अघोषित विद्युत कटौती से उपभोक्ताओं में रोष

0
94
प्रतीकात्मक फोटो

 

शिवगढ़/रायबरेली (ब्यूरो)- योगीराज में हो रही अघोषित विद्युत कटौती से उपभोक्ताओं में गहरा आक्रोश व्याप्त है। विद्युत उपभोक्ताओं का कहना है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्य ने ग्रामीण अंचल को 18 घण्टे विद्युत आपूर्ति देने का वादा किया था जो हो रही अघोषित विद्युत कटौती से हवा हवाई साबित हो रहा है।

विदित हो कि उमश भरी गर्मी से जहाँ एक ओर जनजीवन अस्त व्यस्त नज़र आ रहा है वहीं दूसरी ओर शिवगढ़ क्षेत्र में बिजली भी खूब दगा दे रही है। विद्युत कटौती से परेशान उपभोक्ता अक्सर अपना दर्द बयां करते नजर आ जाते हैं कि वाह-री योगी सरकार विद्युत आपूर्ति का कोई समय ही निर्धारित नही है।

18 घण्टे के बजाय10 घण्टे भी विद्युत आपूर्ति नही नसीब हो रही है। इससे तो अच्छी सपा सरकार थी कमसे- कम ठीक तरह से विद्युत आपूर्ति तो मिलती थी। शिवली निवासी रामकुमार का कहना कि विद्युत बिलों तो बढोत्तरी हो गयी किन्तु विद्युत व्यवस्था में सुधार नही हुआ । सीएम द्वारा ग्रामीण अंचल को 18 घण्टे विद्युत आपूर्ति देने का वादा किया गया था जो हवाहवाई साबित हो रहा है। नरायनपुर निवासी पुनीत पाण्डेय का कहना है कि ग्रामीण जब शाम को थक मांदकर घर आते हैं तो बिजली गुल हो जाती है।उन्हे बिजली के उजाले में खाना भी नही नसीब होता।

पूर्व सपा विधायक रामलाल अकेला का कहना है भाजपा बड़बोली पार्टी है। पीएम ने अच्छे दिन लाने का सपना दिखाया था। तीन वर्ष बीत गये आज तक अच्छे दिन तो नही आये।सीएम ने ग्रामीण अंचल को 18 घण्टे विद्युत आपूर्ति देने का वादा किया था जो बिल्कुल खोखला साबित हुआ है। उमस भरी गर्मी से लोग बेहाल हैं। विडम्बना है कि सुबह खेत गया किसान जब शाम लौटकर घर आता है तो उसे बिजली के उजाले में उसे खाना भी नही नसीब होता। सपा सरकार में होने वाली विद्युत आपूर्ति से किसान ,मजदूर ,व्यापारी,छात्र-छात्रायें सभी सन्तुष्ट थे । केन्द्र और राज्य में भाजपा कि सरकार होते हुए जिस तरह से अघोषित विद्युत कटौती हो रही है उसकी क्षेत्र की जनता ने कभी उम्मीद नही की थी। यदि विद्युत व्यवस्था का यही हाल रहा तो धरना प्रदर्शन किया जायेगा।

रिपोर्ट- अनुज मौर्य/मनोज कुमार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here