जैविक खेती करने पर कृषि वैज्ञानिकों ने दिया बल

बलिया(ब्यूरो)- टाउन हाल बलिया में गुरूवार को विवेकानंद सेवा समिति व बुंदेलखण्ड आर्गेनिक लिमिटेड के संयुक्त तत्वावधान में वरिष्ठ साहित्यकार डा.जनार्दन राय की अध्यक्षता में किसान गोष्ठी एवं सेमिनार का आयोजन किया गया। शुभारम्भ मुख्य अतिथि कृषक गुलाबचंद मिश्र ने ईश वंदना करके किया एवं जैविक विधि से खेती करके आमदनी बढ़ाने की बात कहीं।

गोष्ठी व सेमिनार को सम्बोधित करते हुए मुख्य वक्ता कृषि वैज्ञानिक/उपनिदेशक, क्षेत्रीय भूमि परीक्षण प्रयोगशाला मंडल इलाहाबाद वीके सचान ने कहा कि कृषि उत्पादन में पिछले 50 वर्षों से प्रयोग हो रहे रासायनिक उर्वरकों व फसल सुरक्षा रसायनों के परिणाम यह है कि जहां फसलों की उत्पादन, लागत बढ़ गयी है वहीं भूमि, पानी, हवा, भोजन का स्वरूप विषैला हो गया है। किसानों को जैविक कृषि परम्पराओं का पालन करना होगा क्योंकि प्रकृति की इसी व्यवस्था में हमारी आने वाली पीढ़ियों को भी जीवन यापन करना है। उन्होंने किसानों से आग्रह किया कि धरती माता का स्वास्थ्य सुधारने की चिंता करें जिस दिन जैविक विधि से क्षेती करके मां धरती को स्वस्थ कर दिये उन्हें किसी के सामने हाथ फैलाने की जरूरत नहीं पडे़गी।

इस अवसर पर ओमप्रकाश तिवारी, राजू राजभर, कैलाश सिंह, पारसनाथ पाण्डेय, त्रिलोकीनाथ साहनी, धीरेन्द्र ओझा, राणा प्रताप सिंह, ज्योतिष चंद तिवारी, विशाल यादव, रामायण चौरसिया, ओमप्रकाश, अवधेश राय, शिवशंकर यादव, सुशील कुमार तिवारी, सतीश चौबे, अजय कुमार पाण्डेय, सुशांत कुमार चौबे, कन्हैया सिंह, संजय सिंह, राधेश्याम वर्मा सहित सैकड़ों किसान उपस्थित रहे। गोष्ठी का संचालन डा.विजयानंद पाण्डेय एवं आभार सर्वदेश्वर तिवारी ने किया।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY