अखंड भारत न्यूज के रिपोर्टर ने दो दिन से बेहोशी की हालत मे जंगल में पड़े अधेड़ का करवाया इलाज

कालाकांकर/प्रतापगढ (ब्यूरो) आज हमारे देश मे लोगो की और पुलिस की आत्मा इतनी कठोर हो गयी है अगर अगर कही कोई व्यक्ति अगर अचेत या बेहोशी की अवस्था मे पडा रहता है तो सभी उसको नशेबाज ही समझ लेते है और नशे मे समझ कर उसके पास नही जाते चाहे उसके साथ कोई घटना ही क्यों न घटी हो ।

ना जाने क्यों हमारा समाज इतना पढ लिख कर भी क्या साबित करना चाहता है ।क्या पढे लिखे और समझदार व्यक्ति को एसे लोगो की मदद नही करनी चाहिये? क्या अगर नशे मे हो तो उसके पास जाकर उसकी स्थिती नही जाननी चाहिये | मानिकपुर थाना क्षेत्र के अन्तरगत आज ऐसी ही एक घटना देखने को मिली जहां नशे बाज समझ कर किसी ने दो दिन से पडे अधेड के पास किसी ने जाना उचित नही समझा और दो दिन से वो बेहोशी की हालत मे रातो दिन बारिश मे ही भीगता रहा, भीगने से उसका शरीर भी अकड गया था ।

आज रास्ते मे जाते हुये जब अखंड भारत न्यूज के रिपोर्टर की नजर उस व्यक्ति पर पडी तो पास जाकर देखा तो वह बुरी तरह सर्दी खाये था और कुछ बोल नही पा रहा था। लोगो से पूछने पर पता चला की यह दो दिन से यही पडा है ना कुछ बोलता है और न ही कुछ खाता पीता है । लोगो ने यह भी बताया कि 100 नं की पुलिस परसो आई थी लेकिन नशे मे समझ कर बोली की नशा उतर जायेगा तो चला जायेगा कह कर अपना पल्ला झाड़ लिया, फिर दोबारा देखने भी नही आयी, इसी तरह यह पड़ा है ।

रिपोर्टर पंकज मौर्या ने तुरन्त ही 108 न लगाकर एम्बूलेन्स मगवायी और मानिकपुर थाने फोन से जानकारी दी ।तो पुलिस मौके पर आयी ।और उसको कुन्डा के सी एच सी मे भर्ती करवाया गया ।जहां डाक्टर उसका इलाज कर रहे है | खबर लिखे जाने तक वह होश में नहीं आ पाया था ना ही उसकी पहचान हो पायी थी ।कि वो कहा का है कैसे यहा पहुंचा ।वो होश मे आने के बाद ही पता चल पाये गा ।

 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY