शराब मिली तो पहले जगह सील फिर होगी नीलामी और संचालक जायगा जेल

0
59

पटना/बिहार: शराब बन्दी के बाद भी शराब के चल रहे कारोबार पर पूरी तरह पाबन्दी के लिए सख्त हिदायत दी गयी है। पिछले दिनों मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के द्वारा की गयी| समीक्षा के बाद समस्तीपुर पुलिस भी एक्शन में दिखाई दे रही है। एसपी नवल किशोर सिंह ने इसको लेकर सभी होटल और ढाबा संचालकों को नोटिस दिया है। साथ ही नई उत्पाद नीति के तहत सरकार द्वारा बनाए गए कानून की प्रति भी उपलब्ध करायी गयी है। शराब मिलने और पिलाने की पूरी जवाबदेही होटल और ढाबा संचालक की होगी।

इस संबंध में सदर डीएसपी मो तनवीर अहमद ने बताया कि सभी होटल और ढाबा संचालकों को सख्त हिदायत दी गयी है। अगर जांच और छापेमारी के दौरान शराब के सेवन, संग्रहन और व्यापार करते पाया गया तो होटल और ढाबा को सील कर सरकारी संपत्ति घोषित की जायगी। जिसकी बाद में नीलामी भी करायी जायगी। साथ ही होटल और ढाबा संचालक को दोषी मानते हुए गिरफ्तार किया जायगा। शराब बन्दी की सूचना पर जांच और छापेमारी के लिए कोई सर्च वारंट की जरूरत नहींं है। इसके लिए टीम भी बनाई गयी है इसलिए होटल में ठहरने से पूर्व ग्राहकों की तलाशी लेना सुनिशिचत करें कि लगेज में शराब या अन्य मादक पदार्थ नहीं है। जरूरत पड़ने पर संबंधित थाने को इसकी सूचना देना है।

विदित हो कि समस्तीपुर मुख्यालय में दो होटल के विरुद्ध करवाई की गयी है। जिसमें एक संचालक को जेल भेजा गया था जबकि दूसरा फरार है। इधर, पुलिस के नए आदेश के बाद होटल व ढाबा संचालकों के बिच हड़कंप मच गया है। अब देखना यह है कि सरकार और प्रशासन की यह सख्ती शराब माफियाओं पर कितने हद तक रोक लगा पाती है।

रिपोर्ट- आशुतोष कुमार 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY