पेंशनरों को सभी बकाया धन चालू वित्त वर्ष में भुगतान हो : सुदेश्वर

0
76

बलिया : केन्द्रीय सातवें वेतन आयोग की संस्तुति के आधार पर एक जनवरी 2016 से उ0प्र0 शासन के पेंशनरों और पारिवारिक पेंशनरों की नई संशोधित दर से पेंशन भुगतान करने के लिए प्रमुख सचिव वित्त सामान्य अनुभाग-3 उ0प्र0 शासन लखनऊ के शासनादेश संख्या 39/2016-सा-3-923/10-2016-308/2016 के प्रस्तर 11 में जो यह प्रतिबंध लगाया गया कि जनवरी 2016 से दिसम्बर 2016 का बकाया अवशेष धन का पचास प्रतिशत वित्त वर्ष 2017-18 के माह अक्टूबर 2017 में और शेष अवशेष बकाया धन का पचास प्रतिशत वित्त वर्ष 2018-19 के माह अक्टूबर 2018 में कोषागार द्वारा पेंशनरों और पारिवारिक पेंशनरों को किया जायेगा।

पेंशनरों के बकाये धन राशि के भुगतान करने के शासनादेश के प्रस्तर 11 को समाप्त करके एक संशोधित नवीन शासनादेश निर्गत करने की मांग राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद उ0प्र0 की जनपद शाखा बलिया के संरक्षक एवं मीडिया प्रभारी सुदेश्वर राम अनाम ने कहा है कि अधिकांशतः पेंशनरों और पारिवारिक पेंशन पाने वाले की मौत हो चुकी है। जिनके नाम के बैंकों के बचत खाते भी लगभग बंद कर दिये गये है और इनके उत्तराधिकारियों को बकाये धन का भुगतान किस आधार आगामी दो वित्तीय वर्षों में किया जायेगा, यह जटिल है। श्री अनाम ने आगे यह भी कहा है कि उक्त शासनादेश के प्रस्तर 11(क) में जो 80 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के पेंशनरों को पूरा चालू वित्त वर्ष में भुगतान कर दिया जाय। यही नियम सभी पेंशन धारकां पर भी प्रभावी की जाय।

रिपोर्ट–संतोष कुमार शर्मा

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY