सर्वे में जुटी अमेरिका की चिकित्सकीय टीम

0
96

chc
बलिया-ब्यूरो। अमेरिका से आई 10 सदस्यों की चिकित्सकीय टीम ने सोमवार को शिक्षा-चिकित्सा के क्षेत्र में विस्तृत जानकारी प्राप्त करने के साथ ही लोगों को आवश्यक दिशा निर्देश दी। चिकित्सा शिक्षा के साथ-साथ रोजगार बढ़ाने के लिए भी लोगों से विचार विमर्श की। डॉ. टीसी के नेतृत्व में वर्ल्ड हेल्थ पार्टनर्स वायबीएस युवा बुद्घिस्ट सोसाइटी आफ इंडिया के संयुक्त अभियान में गांव में चिकित्सा स्वास्थ्य व रोजगार के क्षेत्र में स्वावलंबी बनाने के लिए विभिन्न क्षेत्रों का सर्वे किया। सर्वप्रथम दोकटी गांव में टीम ने जोड़ों के दर्द, ब्लड प्रेशर, शुगर, आंख के बारे में बताने के साथ साथ ही योगा के माध्यम से बिना दवा के इलाज के बारे में विस्तृत जानकारी दी।

टीम सरस्वती शिशु मंदिर केशव कुंज दोकटी दलन छपरा का सर्वे करने के साथ ही बच्चों को शिक्षा, स्वक्षता व स्वस्थ के बारे में विस्तृत जानकारी दी। चिकित्सकीय टीम पीएचसी मुरली छपरा व सीएचसी सोनबरसा के चिकित्सकों को साथ मिलकर यहां फैलने वाली बीमारियों के बारे में जानकारी लिया। उसपर कार्य करने के लिए एक टीम का गठन किया। उपमुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. एनके सिंह ने आर्सेनिक से जूझ रहे लोगों की समस्या उनके समक्ष रखी। टीम में डॉ. टीसी के अलावा डॉ. ली, डॉ. क्लेन, डॉ. मिसएंड्रिया, डॉ. सुरेश, डॉ. सुनील सैनी, डॉ. प्रिया, डॉ. नितिन कुमार व डॉ. कैलाश कुमार शामिल रहे। बता दें कि रोटरी फाउंडेन्सर के तकनीकी सलाहकार डॉ. निश्चल पांडेय के निर्देशन में आई टीम चिकित्सा, स्वास्थ्य व पर्यावरण के क्षेत्र में काम करेगी। इस कार्य में पूर्व प्रधानाचार्य कृष्ण कुमार पाणडेय उर्फ मुनी पाणडेय का सहयोग सराहनीय है।

रिपोर्ट–सन्तोष कुमार शर्मा

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY