“अनारी” ने पीएम मोदी को लिखा मार्मिक पत्र

0
86

सुखपुरा/बलिया (ब्यूरो)- भोजपुरी के मशहूर गीतकार बृज मोहन प्रसाद अनारी ने प्रधानमंत्री को लिखे एक मार्मिक पत्र में भारत सरकार द्वारा भोजपुरी भाषा की उपेक्षा पर अपनी व्यथा को साझा करते हुए 8 दिसंबर से शुरु संसद के शीतकालिन सत्र में भोजपुरी को संविधान की आठवीं अनुसूची में शामिल करने की मांग की है। पत्र में कहा गया है कि देश में भाजपा सरकार के गठन के साथ भोजपुरी क्षेत्र के निवासी खुश थे कि यह सरकार भोजपुरी भाषियों के वर्षों की मांग को पूरा करेगी और भोजपुरी को संवैधानिक दर्जा निश्चित रूप से देगी।

इसका कारण भी था आपके आह्वान पर भोजपुरी क्षेत्र के लोगों ने भाजपा को अपना जबरदस्त समर्थन दिया था लेकिन सरकार गठन के साढे़ चार वर्ष बीतने को हैं और भोजपुरी जहां पहले थी वहां आज भी है।अपनी उपेक्षा पर भोजपुरी आंसू बहाने को विवश है। भारत सरकार ने समय-समय पर आश्वासन तो दिए लेकिन कोई भी सरकार उसे अमलीजामा पहना न सकी ।

आज भोजपुरी अपने अस्तित्व के संकट से गुजर रही है ऐसे में आप से अनुरोध है कि शीतकालिन सत्र में भोजपुरी को संवैधानिक दर्जा देकर भोजपुरी वासियों का दिल जीते और लोकसभा के आगामी निर्वाचन में भोजपुरी भाषियों का जबरदस्त समर्थन प्राप्त करें। पत्र की प्रतिलिपि गृह मंत्री राजनाथ सिंह,दिल्ली प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष मनोज तिवारी, रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा सहित भोजपुरी क्षेत्र के लगभग आधा दर्जन सांसदों को भी प्रेषित किया गया है।

रिपोर्ट- डॉक्टर विनय कुमार सिंह

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here