प्राचीन काल के ऋषि महान वैज्ञानिक थे, हमें उनसे सीखना चाहिए : रक्षामंत्री

0
437

manohar p

रक्षामंत्री मनोहर परिरकर ने बुधवार को डीआरडीओ डायरेक्टर्स के सम्मलेन को संबोधित करते हुए कहा वैज्ञानिको को ऋषियों से क्रोध और ईर्ष्या पर काबू करना सीखना चाहिए |

उन्होंने कहा पुराने समय में ऋषि महान वैज्ञानिक थे और साथ ही करुणा से भरे होते थे |

परिर्कर ने कहा मै जो कुछ भी कह रहा हूँ उसे गलत ढंग से बिलकुल न लिया जाए, मेर हमेशा से यह कि “शक्ति संयम से बढती है और शिक्षा विनम्रता से”

महर्षि दधिची का उदहारण देते हुए उन्होंने कहा “ऐसा कहा जाता है कि ऋषि दधीची ने अपनी हड्डियों से वज्र बनाया था पर मुझे लगता है कि उन्होंने एक तरह की वैज्ञानिक खोज के माध्यम से ऐसे अद्भुत धातु की रचना की थी इसलिए हम उन्हें एक वैज्ञानिक की श्रेणी में रख सकते है और एक अंतर जो मुझे आज और प्राचीन समय के वैज्ञानिकों में नज़र आता है वह यह कि ऋषियों का अपनी भावनाओं ( क्रोध, घमंड आदि) पर संयम होता था |”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here