आंगनबाड़ी कार्यकत्री अपने-अपने केंद्रों को समय से खोलें : बाल विकास परियोजनाधिकारी

जालौन (ब्यूरो) सभी आंगनबाड़ी कार्यकत्री अपने, अपने केंद्रों को समय से खोलें। केंद्रों के संचालन में किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरती जाए। निरीक्षण के दौरान यदि केंद्र बंद पाए गए तो मानदेय काटा जाएगा साथ ही संबंधित कार्यकत्री के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। इतना ही नहीं जिस क्षेत्र का आंगनबाडी केंद्र बंद मिला तो उस क्षेत्र की सुपरवाइजर भी जिम्मेदार होगी। यह बाल विकास परियोजनाधिकारी ने आंगबाड़ी केंद्रों के निरीक्षण के दौरान कार्यकत्रियों से कही। उन्होंने 9 आंगनबाडी केंद्रों का निरीक्षण किया जिसमें 3 केंद्र खुले मिले एवं 6 केंद्रों पर ताला लटका मिला।

बाल विकास परियोजनाधिकारी विमलेश आर्या ने ब्लाॅक क्षेत्र के ग्राम हरदोई राजा, कुसमरा, पनहरा, बिरहरा एवं गोकुलपुरा स्थित आंगनबाड़ी केंद्रों का निरीक्षण किया। इस दौरान कुसमरा में 2, हरदोई राजा में 3 एवं पनहरा में 1 केंद्र बन्द मिलने पर उन्होंने कड़ी नाराजगी जताई। उन्होंने मुख्य सेविका को कड़ी फटकार लगाते हुए कहा कि केंद्रों को सुचारु रुप से चलाने की जिम्मेदारी मुख्य सेविकाआंे पर है। सीडीपीओं ने जो केंद्र बंद पाए गए उनकी कार्यकत्रियों के मानदेय रोके जाने के आदेश जारी करते हुए उनको कारण बताओ नोटिस भी जारी किया। कुसमरा की आगनबाड़ी में प्रेमलता, फूलकुंवर पनेहरा में भारती देवी, हरदोई राजा में सरोज, सज्जो व देवेश्वरी का मानदेय काटे जाने की कार्रवाई की गई। सीडीपीओ ने सभी ब्लाॅक क्षेत्र में संचालित सभी 180 आंगनबाड़ियों को निर्देशित करते हुए कहा कि वह समय से अपने, अपने केंद्रों को खोलें। किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरतें। ताकि शासन की मंशा के अनुरुप योजनाओं का क्रियांवयन किया जा सके ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here