व्यवस्थाएं ना होने से आक्रोशित वकीलों ने की कोर्ट और सरकारी कामों के बहिष्कार की घोषणा

0
168

advocate
मैनपुरी : किशनी तहसील की नई और अपूर्ण इमारत में SDM और तहसीलदार कार्यालय शिफ्ट करने तथा अधिवक्ताओं के बैठने के लिए कोई जगह न होने के विरोध में अधिवक्ताओं ने नई तहसील के परिसर में प्रशासन व जिला प्रशासन के ख़िलाफ़  हंगामेदार प्रदर्शन किया, साथ ही SDM, तहसीलदार और नायब तहसीलदार कोर्ट का सारी व्यवस्थाएं न होने तक बहिष्कार की घोषणा की ।

किशनी की नवनिर्वाचित तहसील को बने दो वर्ष होने को है पर अब तक स्थायी भवन पूरी तरह से तैयार नहीं हो सका है। अब तक तहसील का कार्य विकास खंड कार्यालय तथा मनरेगा के लिए बनाये गए भवनों में संचालित किया जाता रहा है। इसीबीच आधी अधूरी तैयारियों के साथ मंगलवार को SDM और तहसीलदार कार्यालयों को नई बन रही तहसील में स्थानांतरित कर दिया गया, पर अभी तक तहसील का निर्माण कार्य जारी है । तहसील की इमारत के अधिकतर कमरों में दरवाजे और खिड़कियाँ,  टैंक, बिजली के स्विच बोर्ड अधूरे पड़े हुए हैं। पानी पीने तक की कोई व्यवस्था नहीँ है । पानी पीने के लिये सड़क के दूसरी ओर जाना पड़ता है  साथ तहसील की बाउंड्री वाल भी नहीं बनी है। मैदान में गड्ढे है और घास खड़ी हुई है। वकीलो के बैठने के लिए कोई स्थान नहीं है ।

वकीलो ने बताया कि सरकार द्वारा नवनिर्माण भवनो में व्यवस्था की गयी है, लेकिन यहाँ पर ऐसी कोई भी व्यवस्था नजर नहीं आ रही है, अस्थाई पुरानी तहसील में अब सिर्फ RK कार्यालय और फर्द निकालने का कंप्यूटर मात्र बचा है। साथ ही वकीलों का कहना है कि जब तक शासनया जिला प्रशासन उनकी बात नहीं सुनता तब तक कार्य बहिष्कार जारी रहेगा |

रिपोर्ट – आशीष कुमार सक्सेना

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here