पुलिस की कस्टडी में हुई युवक की मौत के बाद आक्रोशित परिजन अब खटखटा सकते हैं सीबीआई का दरवाजा

0
146


काशीपुर : पुलिस कस्टडी में हुई किशोर की मौत के आरोपियों की गिरफ्तारी को लेकर एएसपी दफ्तर में पुलिस अफसरों व पीड़ित पक्ष के लोगों की वार्ता हुई। वार्ता से मीडिया को दूर रखा गया। वार्ता में गोपनीय चर्चा क्या हुई, यह प्रतिनिधिमंडल व पुलिस अफसर ही बता सकते हैं।

कटोराताल पुलिस चौकी में 28 फरवरी की रात किशोर की मौत के मामले पुलिस ने एक दरोगा, एक कांस्टेबल सहित नौ लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया था। आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए तीन दिन की मोहलत मांगी थी। तीन दिन का अल्टीमेटम पूरा होने पर आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हो सकी। इसके विरोध में रविवार सुबह में लोगो ने कोतवाली घेरने का ऐलान किया था। आचार संहिता के चलते लोग अल्ली खां में एकत्र होने लगे। सूचना पाकर मौके पर एएसपी व सीओ भारी संख्या में पुलिस फोर्स के साथ पहुंच गया। पुलिस के कहने पर लोग वार्ता करने को राजी हुए की आचार संहिता लागू है। मामले की विवेचना अधिकारी जांच कर रहे हैं। जांच इसके साक्ष्य जुटाए जा रहे हैं। जांच रिपोर्ट पर एएसपी डा. जगदीश चंद्र दफ्तर में शाम चार बजे पीड़ित पक्ष के एक प्रतिनिधिमंडल को वार्ता के लिए बुलाया। वहां मीडिया कर्मी पहुंच गए। इस पर पुलिस अफसरों ने गोपनीय वार्ता की बात कहकर मीडियाकर्मियों को कमरे से बाहर जाने का अनुरोध किया। बंद कमरे में करीब एक घंटे तक वार्ता हुई। लोगों का कहना था कि जब मामले की जांच हो रही है तो वार्ता को इतनी गोपनीय क्यों बनायी गयी। वार्ता के तुरंत बाद विभिन्न संगठन के लोग भी अफसरों से मिले और कहा कि किशोर की मौत के मामले में निष्पक्ष जांच होनी चाहिए।

मामले की जांच विवेचना अधिकारी, मजिस्ट्रेट जांच व ज्यूडिशियल जांच हो रही है। नौ मार्च को मजिस्ट्रेटी जांच रिपोर्ट और विवेचना अधिकारी की जांच का मिलान किया जाएगा। उसी दिन पीड़ित पक्ष के साथ रिपोर्ट को लेकर एक वार्ता होगी। सभी जांचों का मिलान किया जाएगा की रिपोर्टो में कितनी समानता है। जांच रिपोर्ट की एक दिशा होने पर ही आरोपियों की गिरफ्तारी की जाएगी। मामले की निष्पक्ष जांच कराई जा रही है। आरोपियों की गिरफ्तारी का समय नहीं दिया गया है।

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY