आक्रोशित शिक्षा मित्रों ने दहन किया मुख्यमंत्री का पुतला

0
66


बांगरमऊ/उन्नाव (ब्यूरो) सुप्रीम कोर्ट द्वारा शिक्षामित्रों का शिक्षक पदों पर समायोजन रद्द कर दिए जाने से आज यहां क्षेत्र के सभी शिक्षामित्रों में गहरा आक्रोश दिखाई दिया शिक्षामित्रों की नाराजगी प्रदेश सरकार के मुखिया योगी आदित्यनाथ से है, उन्होंने पीड़ित शिक्षामित्रों की रोजी रोटी की गारंटी के लिए कोई वक्तव्य  नहीं दिया । इसी आक्रोश के तहत सैंकड़ों शिक्षामित्रों ने आज यहां के नाना मऊ मार्ग तिराहे पर जोरदार प्रदर्शन किया और मुख्यमंत्री का पुतला फूंका।

आज प्रातः यहां के नानामऊ मार्ग पर  बांगरमऊ व गंजमुरादाबाद के सभी पीड़ित शिक्षामित्रों ने प्रदेश सरकार के विरुद्ध जोरदार प्रदर्शन किया और नारा लगाते हुए कि  भीख नहीं सम्मान चाहिए शिक्षक पूरा नाम चाहिए। मुख्यमंत्री योगी का पुतला फूंका पुतला दहन के बाद  नानामऊ मार्ग स्थित श्री दुर्गेश्वर विद्या मंदिर परिसर में  आक्रोश व्यक्त करते हुए शिक्षा मित्र देवेंद्र सिंह ने कहा कि एक कल्याणकारी राज्य के मुख्यमंत्री का परम कर्तव्य है कि किसी पीड़ितों की मदद करें लेकिन सर्वोच्च न्यायालय के आदेश के बाद मुख्यमंत्री ने पीड़ित शिक्षामित्रों के परिवार की रोजी रोटी की सुरक्षा के लिए अपने मुंह से एक शब्द भी नहीं बोला उन्होंने कहा कि  अदालते  निर्णय देती रहती हैं लेकिन उनके परिवार की भरण पोषण की सुरक्षा की गारंटी प्रदेश सरकार की है जबकि विधानसभा चुनाव पूर्ण भाजपा ने घोषणा की थी कि सत्ता में आने पर बेरोजगारों को रोजगार दिया जाएगा ।उन्होंने कहा कि यदि पीड़ित शिक्षामित्रों की रोजी रोटी के संदर्भ में जल्द ही प्रदेश सरकार ने समुचित निर्णय नहीं लिया तो तो विधानसभा का घेराव किया जाएगा पुतला दहन में  रमेश द्विवेदी,  तारा सिंह यादव, ठाकुर प्रसाद,  लक्ष्मीनारायण,  संजय शुक्ला,  सुधीर कुमार गुप्ता,   जितेंद्र मिश्रा अवधेश कुमार यादव, रजनीश यादव,  अनिल वर्मा, रामजी, रुकमणी यादव, सुशील कुमार, सुनीता देवी, मंजू सिंह, गीता देवी, मुन्नी देवी, उमा,  मुन्ना सिंह सहित करीब डेढ़ सैकड़ा शिक्षामित्रों ने नानामऊ तिराहे पर पुतला दहन में शामिल रहे ।

रिपोर्ट – जितेंद्र कुमार यादव 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here