तालाबों और नहरों में पानी ना होने के चलते तड़प रहे जानवर

0
91


जालौन ब्यूरो : गर्मी के मौसम में तालाबों का पानी सूख जाने के कारण एवं नहरों में पानी न होने के कारण जानवरों के सामने पानी की किल्लत हो गई है।

विकास खंड के ग्राम प्रतापपुरा, औरेखी, मलकपुरा, नैनपुरा, पमां, शेरपुरा, वीरपुरा, मांडरी, सहाव, भदवां, सुढ़ार, सालाबाद समेत अधिकांश गांवों में स्थित तालाब या तो सूख गए हैं अथवा सूखने की कगार पर हैं। साथ ही नहरों में भी पानी नहीं आ रहा है। तालाबों के सूखने एवं पानी तली में होने के कारण आवारा घूम रहे पशुओं को पीने के लिए पानी उपलब्ध नहीं हो पा रहा है। तपती धूप में जानकर पानी के लिए इधर, उधर भटक रहे हैं। विकास खंड की 62 ग्राम पंचायतों में स्थित तालाबों का पानी समाप्ति की ओर है। जिनमें थोड़ा बहुत पानी है भी वह भी तली में होने के कारण उसका उपयोग नहीं हो पा रहा है। विकास खंड के लौना, भिटारा, मकरंदपुरा जैसे ही कुछ गिने, चुने गांव हैं जिनमें पर्याप्त मात्रा में पानी उपलब्ध है। परंतु अधिकांश गांवों के तालाबों में पानी न होने से पशुपालक भी परेशान हैं। पशुपालक श्यामकिशोर, रामसिंह, महेंद्र सिंह, मुलई गुर्जर, अवधेश कुमार, शिवचरण सिंह, मानसिंह, शिवमंगल, रामभरोसे ने जिलाधिकारी से मांग करते हुए कहा कि नहरों में पानी छोड़ा जाए अथवा सरकारी टयूबबैलों को चलवाकर गांवों में स्थित तालाबों का प्राथमिकता के आधार पर भरवाया जाए ताकि गर्मी के मौसम में पशुओं को पेयजल के लिए दिक्कतों का सामना न करना पड़े।

रिपोर्ट – अनुराग श्रीवास्तव

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY