अन्ना को नहीं थी केजरीवाल से ऐसी उम्मीद, कहा…

0
77

अब इसे कुर्सी जाने का बदला कहें या हकीकत कुछ भी हो केजरीवाल पर लगे दाग से अन्ना बहुत नाराज़ हैं | जी हाँ, शनिवार को मंत्रिमंडल से हटाए जाने के बाद तुरंत ही कपिल मिश्रा ने आज केजरीवाल पर सत्येंद्र जैन से 2 करोड़ रुपये घूस लेने का आरोप जड़ दिया जिससे दिल्ली की गर्म राजनीति को एक और हवा का तेज़ झोंका लग गया है |

केजरीवाल पर लगे भ्रष्टाचार के आरोप को वैसे तो सभी पार्टियाँ भुनाने पर लगी हैं लेकिन इससे सबसे ज्यादा ठेस केजरीवाल के गुरु रहे अन्ना को लगी है| हाल ही में हुए अपने एक इंटरव्यू में अन्ना ने कहा कि वैसे तो उनका अरविन्द से विश्वास उसी समय उठ गया था जब उनके मंत्रियों पर भ्रष्टाचार का आरोप लगा था और उन सभी को इस्तीफ़ा देना पड़ा था लेकिन केजरीवाल को जनता का विश्वास नहीं तोड़ना चाहिए|

अन्ना ने कहा कि अरविन्द ने भ्रष्टाचार के मुद्दे को लेकर ही सरकार बनायीं है और अगर उनकी ही पार्टी पर ऐसे आरोप लगेंगे तो यह अच्छी बात नहीं है और इस मुद्दे पर वो पूरी जानकारी लेने के बाद ही कुछ कहेंगे|

विपक्ष को मिला मौका-
विपक्ष भी इस मौके को अपने हाथ से जाने नहीं देना चाहता है| बीजेपी के नेता मनोज तिवारी ने प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि यह इससे पहले तक आप का अंदरूनी मामला था लेकिन अब केजरीवाल को इसका जवाब देश की जनता को देना चाहिए | उन्होंने कपिल मिश्रा को उनके इस साहसिक कदम के लिए सराहा और आप पार्टी में भ्रष्टाचार को उजागर करने की बात सामने रखी|

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY