एक और पत्रकार परिवार पुलिस उत्पीड़न का शिकार

0
54

जौनपुर(ब्यूरो)- थाना बदलापुर से जुड़ा सनसनीखेज मामला। निर्वाण टाइम्स के जिला संवाददाता हिमांशु श्रीवास्तव की बहन को 17 मार्च 2017 को आरोपी साकिर, कुसोहर, राम मिलन और दो अन्य ने अपहरण कर उसे सामूहिक दुष्कर्म का शिकार बनाया।

पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया, लेकिन पीड़ित पत्रकार का आरोप है कि फरार दोनों आरोपी उनकी हत्या करवाने की फिराक में है।

27 अप्रैल 2017 को फरार आरोपियों ने पुनः पीड़ित छात्रा को अगवा कर जान से मारने की कोशिश की। पीड़ित पत्रकारों ने पुलिस के उच्चाधिकारियों से बात की। जहां घनश्यामपुर पुलिस चौकी प्रभारी संजीव सिंह छात्रा दुष्कर्म मामले का विवेचक है। और वह आरोपीयों से मिला हुआ है।

पीडिता का आरोप है कि बंद कमरे में पूछताछ करने के बहाने चौकी प्रभारी संजीव सिंह ने पीड़िता के साथ रेप किया जिसकी सूचना पीड़िता ने अपने परिवार को दी तो पांव तले जमीन खिसक गई फिर। मामला आईजी और डीआईजी तक पहुंचा, तो दारोगा ने दूसरी चाल चलनी शुरू कर दी।

उसके कहने पर गिरफ्तार आरोपी राम मिलन की पत्नी से तहरीर लिखवा ली कि बदले की भावना से पत्रकार हिमांशु श्रीवास्तव, पत्रकार ओम प्रकाश पाण्डेय और प्रियांशु श्रीवास्तव ने उसके साथ रेप किया है। अब पुलिस तीनों को तलाश रही है। पीड़ित पत्रकार का कहना है कि दारोगा संजीव सिंह ने सारे मनगढंत आरोप लगवाए हैं।

रिपोर्ट-डा.अमित कुमार पाण्डेय 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY