एपीजे अब्दुल कलाम एक सोच – दिव्येन्दु राय

 

एपीजे अब्दुल कलाम यह नाम सदियों तक के लिये अमर हो गया। एपीजे  अब्दुल कलाम एक व्यक्ति नही अपितु एक सोच थे। भारत के पुर्व  राष्ट्रपति  मिसाइल मैन एपीजे अब्दुल कलाम के साथ ही एक सदी का अन्त हो गया,  कलाम साहब इस देश के युवाओं के यूथ आइकान थे युवा उनको सदैव देखना  एवं सुनना चाहते थे। देश के लाखों युवा कलाम साहब जैसा बनने की तमन्ना रखते हैं युवाओं के साथ साथ समस्त देशवासियों के दिलो पर राज करने वाले  इस महारथी की अकस्मात मृत्यु ने पुरे देश को झकझोर कर रख दिया। देश ने  अपना होनहार बेटा खोदिया सबकी आखें नम हो गयी चहुँओर मायूसी फैल गयी लोग सदमे मे आ गये कि आखिर यह कैसे हो गया। कलाम साहब जाते  जाते भी इस दुनिया के बारे मे सोचते रहे, कलाम साहब ने इस देश एवं दुनिया  को जो कुछ दिया है वह अनमोल है।

कलाम साहब अब भी जिन्दा हैं हमारी एवं आपकी यादों में।

DSC_6459

दिव्येन्दु राय

NO COMMENTS