आरटीआई के तहत सूचना न मिलने पर राज्य सूचना आयोग में अपील दाखिल

0
99

रायबरेली(ब्यूरो)- मुरादाबाद निवासी श्री हरद्वारी लाल सैनी (सेवानिवृत्त) ने सूचना अधिकार अधिनियम-2005 के तहत जनसूचना अधिकारी, नगर निगम, मुरादाबाद से दिनांक 09.05.2016 को आवेदन-पत्र देकर जानकारी चाही थी कि सेवानिवृत्त रेलवे नोटिफाईड एरिया पूर्व माध्यमिक विद्यालय नगर निगम, मुरादाबाद प्रधानाध्यापक के पद पर कार्यरत थे, वेतन भुगतान एवं बोनस, भविष्य निधि, पेशन एरियर का भुगतान किस कारण से नहीं किया गया है, आदि से सम्बन्धित बिन्दुओं की प्रमाणित छायाप्रतियों की जानकारी मांगी थी, परन्तु विभाग द्वारा वादी को कोई जानकारी नहीं दी गयी। अधिनियम के तहत जानकारी न मिलने पर वादी ने राज्य सूचना आयोग में अपील दाखिल कर प्रकरण की जानकारी चाही है।

राज्य सूचना आयुक्त श्री हाफिज उस्मान ने जनसूचना अधिकारी, नगर निगम, मुरादाबाद को सूचना का अधिकार अधिनियम-2005 की धारा 20 (1) के तहत नोटिस जारी कर आदेशित किया कि वादी द्वारा उठाये गये, बिन्दुओं की बिन्दुवार सभी सूचनाएं अगले 30 दिन के अन्दर अनिवार्य रूप से वादी को उपलब्ध कराते हुए, मा0 आयोग को अवगत कराये, अन्यथा जनसूचना अधिकारी स्पष्टीकरण देंगे कि वादी को सूचना क्यों नहीं दी गयी है, क्यों न उनके विरूद्ध दण्डात्मक कार्यवाही की जाये।

नगर निगम, मुरादाबाद से श्री प्रेम शंकर उपस्थित हुए, उन्होंने मा0 आयोग को लिखित तौर बताया कि वादी के समस्त बकायों का कुल रू0 05,98,163.00 (रू0 पांच लाख, अठ्ठान्नबे हजार, एक सौ तिरसठ) का भुगतान उन्हें कर दिया गया है, इस आशय की जानकारी प्रतिवादी ने मा0 आयोग को दी है।

पेंशन योजना के तहत रू0 83,000 का किया गया भुगतान
एक अन्य वाद में मुरादाबाद निवासी पवन अग्रवाल ने आर0टी0आई0 एक्ट-2005 के तहत जनसूचना अधिकारी, नगर निगम, मुरादाबाद से आवेदन देकर जानकारी चाही थी कि पेंशन योजना के तहत कितने लाभार्थी को पेंशन दी गयी है, आदि से सम्बन्धित बिन्दुओं की जानकारी मांगी थी, परन्तु नहीं दी गयी, अधिनियम के तहत सूचना न मिलने पर वादी ने राज्य सूचना आयोग में अपील दाखिल कर प्रकरण की जानकारी चाही है।

राज्य सूचना आयुक्त श्री हाफिज उस्मान ने जनसूचना अधिकारी, नगर निगम, मुरादाबाद को सूचना का अधिकार अधिनियम-2005 की धारा 20 (1) के तहत नोटिस जारी कर आदेशित किया, तब प्रतिवादी पक्ष की ओर से श्री प्रेम शंकर उपस्थित हुए, उनके द्वारा लिखित तौर पर बताया गया है कि कुल 83,000 रूपये (रू0 तिरासी हजार) पेंशन के दिये गये है, इस आशय की जानकारी प्रतिवादी ने मा0 आयोग को दी है।

रिपोर्ट- अनुज मौर्य

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY