निजी पैथालाजी केन्द्रों में जाँच के नाम पर वसूला जा रहा मनमाना शुल्क

0
77

मिर्जापुर(ब्यूरो)- जनपद के तमाम चट्टी चौराहों पर निजी पैथालाजी सेन्टरों मे खुन जांच के नाम पर मरीजों से मनमाने ढंग से पैसा वसुला जा रहा है। डाक्टरों को 60-70% कमीशन देने की बात कह कर डाक्टरों से जांच लिखवाते हैं इन पैथालाजी केंद्रों का रजिस्ट्रेशन के नाम पर सरकार को बेवकूफ़ बनाया जा रहा है।

ग्रामीण क्षेत्रों में बहुत संख्या में पैथालाजी सेन्टर खोल कर जांच करने वाले अधिकांश लोगों के पास लैब टेक्टिशियन की डिग्री तक नहीं है। दुसरे लैब टेक्टिशियन की डिग्री लगा कर रजिस्ट्रेशन लेकर दुसरा व्यक्ति ब्लड टेस्ट करता है| इनके यह एम बी बी एस, एम डी पैथ की डिग्री तो जुगाड़ करके लगा दी जाती है, मगर पैथालाजी पर कोई भी एम बी बी एस एम डी पैथ उपलब्ध नहीं रहता।

जब कभी  जिले से जांच अधिकारी आते हैं तो कुछ सुविधा शुल्क लेकर उन पैथालाजी के पछ में रिपोर्ट लगा कर बचा लिया जाता है। मानवाधिकार संगठन के प्रदेश सचिव ने सोमवार को इसकी शिकायत प्रभारी मंत्री राजेश अग्रवाल से की है। सीएमओ डाक्टर विभु गुप्ता ने बताया कि पैथालाजी केंद्रों की जांच के लिए मुख्यमंत्री के यहां से कडे निर्देश मिलें हैं। एक जुलाई से केंद्रों के खिलाफ टीम गठीत कर अभियान चलाया जा रहा हैं। और गलत मिलने पर विभागीय कार्यवाही की जा रही है।

रिपोर्ट-साज़िद अंसारी/आज़म खां

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here