सियाचीन- बर्फ कीई 25 फुट मोटी चादर के नीचे 6 दिन तक दबा जवान जिन्दा मिला

0
588

जम्मू- दुनिया के सबसे ऊँचे युद्ध क्षेत्र सियाचिन में 6 दिन पूर्व आये भीषण विनाशकारी बर्फीले तूफ़ान की चपेट में आने के बाद सेना की एक टुकड़ी के 1जीसीओ समेत 9 जवान जिन्दा ही बर्फ में दफ़न हो गए थे I उन्ही जवानों में से एक कर्णाटक के रहने वाले हनुमन थापा को सेना और वायु सेना के द्वारा चलाये जाने वाले राहत और बचाव कार्य के द्वारा जिन्दा बचा लिया गया है I

आपको बता दें कि 6 दिन दुनिया की सबसे ऊँचे युद्ध क्षेत्र सियाचिन में भीषण बर्फीला तूफ़ान आया था जिसमे भारतीय सेना के एक जूनियर कमीशंड ऑफीसर समेत 9 जवान जिन्दा दफ़न हो गए थे I जानकारों के मुताबिक जहाँ पर सेना के जवान तैनात है वहां पर रात में पारा -45 डिग्री के भी नीचे चला जाता है I जिस हनुमन थापा को जिन्दा बचाया गया है बताया जा रहा है कि वह बर्फ में 25फुट की गहराई में दबे हुए थे I

उत्तरी सैन्य कमान के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल डी.एस. हुडा ने कहा, ‘यह एक चमत्कार है। लांस नायक हनमन थापा को सैनिक अस्पताल में सुबह भर्ती कराया गया है। उसे बचाने के सभी प्रयास किए जा रहे हैं।’

उन्होंने आगे कहा, ‘अब तक पांच शव बरामद हुए हैं जिनमें से चार की पहचान की जा चुकी है। बाकी जवानों का हमें अब तक कोई पता नहीं चल पाया है।’

उन्होंने उम्मीद जताई कि कर्नाटक निवासी थापा की तरह ही अन्य जवान भी चमत्कारिक रूप से बच जाएंगे।

ज्ञातव्य है कि मद्रास रेजिमेंट के एक जेसीओ और नौ अन्य जवान पाकिस्तान से लगे नियंत्रण रेखा के पास करीब साढ़े 19000 फुट की ऊंचाई पर बर्फ में उस समय दब गए थे जब उनकी चौकी इस हिमस्खलन में तबाह हो गयी थी। उस समय यहां का तापमान शून्य से 45 डिग्री कम था।

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY