पुलिस ने तीन को शांतिभंग की आशंका में पकड़ा

0
108

जालौन(ब्यूरो)– 100 नंबर अपहरण की झूठी सूचना पर पुलिस रात में रही परेशान तो वहीं अपहरण को लेकर गांव के दो पक्षों में हो रहे विवाद पर कोतवली पुलिस ने दोनों पक्षों के तीन लोगों को शांतिभंग की आशंका में जेल भेजा।
कोतवाली क्षेत्र के ग्राम नैनपुरा निवासी अंशू ने मंगलवार की रात्रि लगभग 9 बजे 100 नंबर पर फोन कर सूचना दी कि गांव के ही तीन लोगों ने उसके भाई का अपहरण कर लिया है।

सूचना मिलते ही पुलिस सक्रिय हो गई। पुलिस ने टीमें गठित कर अपहरणकर्ताओं की तलाश शुरू कर दी तो वहीं गांव पहुंचने पर जब पुलिस ने पूछताछ की तो पता चला कि गांव के दो लोगों के साथ वह जालौन आया था। इसके बाद वह जालौन में ही मोहल्ला दलालनपुरा में अपनी मौसी के यहां रुक गया। इसके बाद रात में ही जब उसकी मौसी के यहां पुलिस पहुंची तो अंशू का भाई वहीं मिल गया। उधर अंशू के परिजन और उसको जालौन साथ ले गए लोगों के बीच गांव में झगड़ा हो रहा था जिस पर पुलिस ने दोनों पक्षों को समझाने का प्रयास किया लेकिन न मानने पर पुलिस ने शांतिभंग की आशंका में दोनों पक्षों से आलोक बाबू, संजू उर्फ संजीव कुमार व धर्मेंद्र को हिरासत में लेकर जेल भेज दिया।

रिपोर्ट- अनुराग श्रीवास्तव
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here