आल्हा व लोकगीत कलाकारो ने जमकर अपनी कला का दिखाया जौहर

0
324

लालगंज/रायबरेली (ब्यूरो) –  कस्बे के मंडी समिति परिसर मे इंडियन पोटाश लिमिटेड एवं भारतीय सांस्कृतिक मण्डल नई दिल्ली के द्वारा क्षेत्र ही नही दूर दराज के आल्हा व लोकगीत कलाकारो ने जमकर अपनी कला का जौहर दिखाया है। आल्हा एवं लोक गीत कार्यक्रम की अध्यक्षता जिला सहकारी बैंक उन्नाव के चेयरमैन मदन मिश्रा ने किया। चेयरमैन मदन मिश्रा ने कहा कि विलुप्त हो रही संस्कृति के लिये आल्हा महोत्सव व लोकगीत कार्यक्रम समाज जीवन के लिये बहुत ही जरूरी है। उन्होने कलाकारो को भी साधुवाद देते हुये कहा कि उन्ही की वजह से आल्हा व लोकगीत जैैसी विधायें आज भी जीवंत है।

वहीं आल्हा की प्रस्तुति करते हुये अल्का बाजपेयी ने माडव की लडाई गाकर लोगो को भाव विभोर कर दिया। फतेहपुर के रामदास के नौलखा हार की लडाई का गायन सुनकर लोगो ने खूब तालियां बजायी। कन्हैया लाल यादव ने कृष्ण जन्म की प्रस्तुति कर लोगो का मनमोह लिया। इसके साथ ही अमेठी की लोकगायिका नीलम सिंह ने कजरी गीत कोयल बिन बगिया न सोहे राजा प्रस्तुत कर लोगो को नाचने गाने पर मजबूर कर दिया।इसके साथ ही ओंकार नाथ अवस्थी,रामप्रताप आदि ने भी आल्हा की जोरदार प्रस्तुति की। कार्यक्रम के दौरान राजकुमार, रामप्रताप सहित अन्य आल्हा गायको को सम्मान पत्र व नकद धनरासि देकर पुरूस्कृत भी किया।

रिपोर्ट अखिलेश सिंह

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here