वर्षा होते ही बदल जाती है हसनपुर बाजार की सूरत

0
86

हसनपुर, समस्तीपुर(ब्यूरो)- आर्थिक एवं सामाजिक रूप से अब लगातार विकास की ओर अग्रसर हो रहे हसनपुर बाजार की सूरत वर्षा होते ही काफी बिगड़ जाती है| नाले का सही ढंग से निर्माण नहीं होने के कारण सड़कों पर पानी लग जाता है जिससे आम लोगों को आने-जाने एवं चलने में भी काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ता है| यहां यह भी बताना जरूरी है कि पूर्व की तुलना में हसनपुर बाजार औद्योगिक रूप से काफी विकसित होता जा रहा है|

इसका प्रत्यक्ष उदाहरण यह है कि दशकों पूर्व हसनपुर में एक निजी क्षेत्र में चीनी मिल की स्थापना की गई| पूरे मिथिलांचल में यह इकलौता चीनी मिल है जो क्षेत्र के किसानों को ईख की पैदावार को खरीदकर काफी आर्थिक मदद पहुंचाता है|

बावजूद आज तक हसनपुर के इस बाजार पर सरकारी अधिकारियों एवं जन प्रतिनिधियों का ध्यान नहीं जा रहा है| अगर सरकारी स्तर पर बाजार में मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध करा दी जाएं तो यह एक विकसित बाजार के रूप में उभर कर सामने आ सकता है| वर्षा होने के बाद जगह-जगह सड़कों पर न केवल पानी लग जाता है बल्कि लोगों के घरों में भी जल—जमाव की स्थिति उत्पन्न हो जाती है|

इससे खासकर व्यापारियों को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ता है| मंगलवार की सुबह इस क्षेत्र में जोरदार वर्षा हुई जिसके कारण कई सड़कों पर पानी लग गया| इससे आक्रोशित होकर वार्ड नं. 11 के वार्ड सदस्य विकास कुमार छपड़िया के नेतृत्व में लोगों ने ब्लाॅक रोड को काफी देर तक जाम रखा|

जाम की सूचना पर बीडीओ प्रेम कुमार यादव, थाना के दारोगा लक्ष्मेश्वर बाबू, प्रखंड मुखिया संघ के अध्यक्ष राम नारायण मंडल आदि ने वहां पहुंचकर प्रदर्शनकारियों को यह आश्वासन दिया कि राशि आवंटित होते ही इस समस्या का निदान अवश्य ही कर दिया जाएगा| इसके बाद जाम को समाप्त किया गया|

रिपोर्ट-रंजीत कुमार 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY