स्वाइनफ्लू पर बच्चो एवं अभिभावको को किया गया जागरुक

0
71

सलोन/रायबरेली (ब्यूरो)- वर्तमान समय मे अज्ञानता अशिक्षा एवं स्वच्छता साफ सफाई के अभाव मे डेंगू चिकन  गुनिया एवं स्वाइन फ्लू जैसी भंयकर बीमारी अपना पैर फैला रही है।  जिसमें तेज बुखार से मौत का सामना करना पड रहा है। जिनके लिए सरकार दूरा विभिन्न माध्यमों से जागरुकता अभियान चलाया जा रहा है। इसी क्रम मे प्रा. वि. फरीद गढ सलोन मे विद्यालय के प्र. अ. रिसोर्स पर्सन बालिका शिक्षा एसएस पाण्डेय ने स्कूल के बच्चो के साथ- साथ उनके अभिभावको को कार्यशाला के माध्यम से जागरुक किया गया।

श्री पाण्डेय ने कहा कि जानकारी के अभाव मे डेंगू स्वाइन फ्लू जैसी भंयकर बीमारी के शिकार हो रहे है उन्होने कहा कि बच्चो को प्रतिदिन साफ सफई रखने की जानकारी दी जा रही लेकिन अभिभावको को भी  जागरुक होना जरुरी है। ग्रामीण क्षेत्र मे साफ सफाई के अभाव मे मच्छरों एवं उनके लार्वा अपनी जगह बना लेती है। जरुरत है कि सावधानी बरते और आस पास पानी इकट्ठा न होने दे। मच्छरदानी का प्रयोग करे फुल आस्तीन के कपडे पहने घर के आस पास सफाई रखे तभी इस भंयकर बीमारी से बचा जा सकता है रमेश कुमार गौड ने कहा कि जैसे ही बुखार आये तुरन्त सरकारी अस्पताल मे जाँच कराकर चिकित्सक की सलाह से इलाज कराये इसमें लापरवाही ना करे तभी गंभीर बीमारी से बचा जा सकता है।

सफाई कर्मी सुभाष ने कहा कि स्कूल के अन्दर बाहर तथा गाँव की नालियों मे मच्छर एवं लार्वा मारने की दवा का छिड़काव किया जा चुका है। इस अवसर पर पिंकी देवी एवं सुमन स.अ. इन्दल गीता किरन कलावती रामकेवल रामअवध सहित लोग उपस्थित रहकर अपने घर के आसपास साफ सफाई करने की जानकारी दी गयी।र्तमान समय मे अज्ञानता अशिक्षा एवं स्वच्छता साफ सफाई के अभाव मे डेंगू चिकन  गुनिया एवं स्वाइन फ्लू जैसी भंयकर बीमारी अपना पैर फैला रही है।  जिसमें तेज बुखार से मौत का सामना करना पड रहा है। जिनके लिए सरकार दूरा विभिन्न माध्यमों से जागरुकता अभियान चलाया जा रहा है।

इसी क्रम मे प्रा. वि. फरीद गढ सलोन मे विद्यालय के प्र. अ. रिसोर्स पर्सन बालिका शिक्षा एसएस पाण्डेय ने स्कूल के बच्चो के साथ- साथ उनके अभिभावको को कार्यशाला के माध्यम से जागरुक किया गया। श्री पाण्डेय ने कहा कि जानकारी के अभाव मे डेंगू स्वाइन फ्लू जैसी भंयकर बीमारी के शिकार हो रहे है उन्होने कहा कि बच्चो को प्रतिदिन साफ सफई रखने की जानकारी दी जा रही लेकिन अभिभावको को भी  जागरुक होना जरुरी है। ग्रामीण क्षेत्र मे साफ सफाई के अभाव मे मच्छरों एवं उनके लार्वा अपनी जगह बना लेती है।

जरुरत है कि सावधानी बरते और आस पास पानी इकट्ठा न होने दे। मच्छरदानी का प्रयोग करे फुल आस्तीन के कपडे पहने घर के आस पास सफाई रखे तभी इस भंयकर बीमारी से बचा जा सकता है रमेश कुमार गौड ने कहा कि जैसे ही बुखार आये तुरन्त सरकारी अस्पताल मे जाँच कराकर चिकित्सक की सलाह से इलाज कराये इसमें लापरवाही ना करे तभी गंभीर बीमारी से बचा जा सकता है। सफाई कर्मी सुभाष ने कहा कि स्कूल के अन्दर बाहर तथा गाँव की नालियों मे मच्छर एवं लार्वा मारने की दवा का छिड़काव किया जा चुका है। इस अवसर पर पिंकी देवी एवं सुमन स.अ. इन्दल गीता किरन कलावती रामकेवल रामअवध सहित लोग उपस्थित रहकर अपने घर के आसपास साफ सफाई करने की जानकारी दी गयी।

रिपोर्ट- अनुज मौर्य /प्रदीप गुप्ता 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here