लालगंज सर्किल में कानून के रसूख को खुली चुनौती दे रहे बदमाश, खाकी के पास नजर आ रहे थोथे दावे

प्रतीकात्मक फोटो

लालगंज/प्रतापगढ़(ब्यूरो)- लालगंज सर्किल बीते करीब माह भर से जरायम का गढ़ बना नजर आ रहा है। बीती गुरुवार रात हाइवे पर दलित युवक की हत्या कर कानून के रसूख को बदमाशों ने खुली चुनौती पेश की है। सिलसिलेवार आपराधिक घटनाओं से दहल उठे लालगंज क्षेत्र में खाकी के पास कार्रवाई के नाम पर सिर्फ थोथे दावे ही नजर आते है।

मसलन संग्रामगढ़ थाना के भरतपुर देवारा गांव के पांच युवकों की ऊंचाहार में निर्मम सामूहिक हत्या से इलाका दहला ही था कि लालगंज कोतवाली के केशवपुर अझारा गांव मे भी हाल ही में दलित युवक की खौफनाक हत्या की वारदात को अंजाम दिया गया। इसके पहले लालगंज कोतवाली के धारूपुर गांव में अधिवक्ता धनंजय मिश्र की भी भाड़े के बदमाशों ने बेखौफ गोली मारकर सरेशाम हत्या कर दी। ढ़ाई महीने होने को है अधिवक्ता धनंजय मिश्र की हत्या का राज पुलिस सामने नहीं ला सकी।

लालगंज कोतवाली के ही मोठिन गांव में जमीनी विवाद में युवक दिनेश शुक्ला की भी पीट पीटकर निर्मम हत्या कर दी गयी। अभी तक इस हत्याकांड के एक भी आरोपी पुलिस के हत्थे नहीं चढ़ सके। सांगीपुर थाना क्षेत्र में सरे बाजार दुर्घटना में मासूम समेत युवक की मौत हो गयी। आरोपियों ने थाने में घुसकर पुलिस की शैली को लेकर न केवल घेराव किया बल्कि आक्रोशित महिलाओं ने एक दरोगा की पिटाई तक कर दी। यहां भी पुलिस ने बलवा का केस दर्ज किया। पर थाने की जिल्द पर ही यह मुकदमा भी खाकी के कोरम निभाने की कहानी बयां कर रहा है।

हाल ही में उदयपुर थाना क्षेत्र के ननौती बाजार में सशस्त्र गैंगवार हुआ और तीन के तीन युवक गोली से घायल होकर जीवन और मौत से संघर्ष कर रहे है। उदयपुर पुलिस ने घटना को लेकर बैंक प्रबंधक की तहरीर के अलावा खुद की तहरीर पर बवालियों के खिलाफ तीन तीन केस दर्ज किये है। सैकड़ो आरोपियों में एक भी आज तलक उदयपुर पुलिस के हाथ न लग सके। लालगंज कोतवाली के वर्मा नगर बाजार में व्यापारी की हत्या के बाद भी पुलिस ने बलवा का केस लिखा पर खुद पुलिस अपने ही लिखाये मुकदमें में एक भी आरोपी को चंगुल में न ले सकी।

कोतवाली लालगंज के ही जलेशरगंज बाजार में भण्डारे के कार्यक्रम में गोली चली और दो समुदायों के बीच उपजे तनाव से जमकर ईट पत्थर चले। किंतु खाकी सिर्फ ऐहतियाती गश्त के अलावा एक कदम भी आगे नहीं बढ़ पा रही है। नजर डाले तो सर्किल के चार के चारों थाने इस समय जरायम की दहलीज पर खाकी को मुंह चिढ़ा रहे है। दनादन हो रही वारदातों से आम आवाम भय व दहशत के साये मे है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here