बादशाहपुर रेलवे क्रॉसिंग ज्यादा देर तक बन्द होने से यात्रियो को हो रही परेसानी

0
168

railway fatak

मुगराबादशाहपुर/जौनपुर- उत्तर रेलवे के वाराणसी प्रतापगढ़ लखनऊ रेल प्रखण्ड के बादशाहपुर रेलवे क्रासिंग पर ट्रेनों के अधिक आवागमन के कारण फाटक ज्यादातर समय बंद रहने से लोगो को जहां परेशानी हो रही है वहीं यातायात भी बुरी तरह बाधित होता रहता है।

बता दें कि मगराबादशाहपुर नगर के एक प्रमुख हिस्से से दूसरे प्रमुख हिस्से को जोड़ने वाली यह क्रासिंग लोगों की जान माल की सुरक्षा तो करती है लेकिन इसके लोगों की परेशानियों को भी बढ़ा रही है। इस रेलवे स्टेशन  से दिनभर में लगभग 30 से ज्यादा ट्रेन गुजरती है और प्रत्येक गाड़ी के आने से कुछ देर पहले ही गेट बंद करना होता है जो गाड़ी के गुजरने के बाद ही खुलता है।

मुगरा बादशाद पुर तीन जिले के सीमा पर स्थित है| अधिकतम विद्यालय महाविद्यालय व महिला महाविद्याल़य इसी रास्ते में पड़ते हैं। जिसके लिए क्रासिग पार करना ही पड़ता है। बादशाहपुर वालो का प्रमुख व्यवसाय व आपातकालीन चिकित्सा का केन्द्र इलाहाबाद है| मुख्य बात यह भी है कि इलाहाबाद से जौनपुर आजमगढ बलिया देवरिया पडरौना कुशीनगर गोरखपुर सोनौली मऊ इत्यादि जगहो पर जाने के लिये यह प्रमुख मार्ग है|

जो लोगों को आवश्यक कार्य हेतु वहां तक तो जाना ही होता है। इसलिए दिन के समय आवागमन ज्यादा रहता है। लगातार ट्रेनों की बढ़ती संख्या की वजह से यह समस्या और गंभीर रूप लेती जा रही है। इस क्रासिंग वाले रास्ते पर दिन मे बंद क्रासिंग के चलते सड़कों पर दूर तक जाम लग जाता है। यह समस्या दिन प्रतिदिन भयावह होती जा रही है, जिससे जनता में रोष है। लोगों का मानना है कि यदि क्रासिंग से उपरिगामी पुल का निर्माण हो जाए तो यह समस्या हल हो जायेगी| उपरिगामी पुल निर्माण के लिए 2016-17 के रेल बजट मे दर्शाया तो गया लेकिन निर्माण कार्य अभी तक शुरू नही किया जा सका|

एक तो रेलवे फाटक बंद हो जाने पर लगने वाले जाम से लोग जूझ ही रहे होते है ऊपर से तिराहे पर बनाये गये डग्गा मार वाहनो का अड्डा व लगने वाला जमावड़ा कोढ़ मे खाज बन गया है |
रिपोर्ट-डा०अमित कुमार पाण्डेय
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here