बैजना पंचायत में खुले आम हो रही है, रासन की कालाबाजारी

0
100


धनबाद/ निरसा (ब्यूरो)-
एक ओर जहां सरकार जनता को जन वितरण प्रणाली दुकान के माध्यम से कम मूल्य पर खाद्य सामग्रियों का वितरण करवा रही है ।वही दूसरी ओर जन वितरण प्रणाली दुकानदार खुले आम खाद्य सामग्रियों की कालाबाजारी कर रहे है ।निरसा प्रखंड के बैजना पंचायत में धड़ल्ले से जनता के रासन सामग्रियों की कालाबाजारी वहां के जन वितरण प्रणाली दुकानदार रामपुकार सिंह एवं रंजन कुमार द्वारा की जा रही है ।

इन दोनों के खिलाफ बैजना पंचायत के ग्रामीणों ने एक लिखित शिकायत प्रखंड विकास पदाधिकारी मुकेश कुमार बाउरी एवं खाद्य आपूर्ति पदाधिकारी सुबोध कुमार से की । एवं जब इस लिखित शिकायत की जानकारी जिले के वरीय पदाधिकारियों को मिली तो उन्होंने दोनों डीलरों को कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया।

बावजूद इसके दोनों डीलरों ने बड़े ही धांधली से 11 जुलाई को बैजना पंचायत के जन प्रतिनिधियों के सहयोग से बैजना पंचायत की भोली भाली जनता को गुमराह कर बैजना पंचायत भवन में ग्रामीणों के अँगुलियों के निशान ई मशीन पर ले लिए और ग्रामीणों से यह कहकर अँगुलियों के निशान लिया गया कि अगर जनता अँगुलियों के निशान नहीं देगी तो उनलोगों का रासन कार्ड रद्द कर दिया जाएगा ।भोली भाली जनता इनलोगों के बहलावे में आ गयी और उन्होंने अपनी अँगुलियों के निशान ई मशीन पर दे दिए । जब हमलोगों को इसकी जानकारी मिली तो हमने वहां पहुंचकर पुरे मामले की जानकारी ली तो पाया की सही में ग्रामीणों को जन वितरण प्रणाली दुकानदारों ने वहां के जन प्रतिनिधियों के सहयोग से इस कार्य को अंजाम दिया है ।

अब जरा आप ही खुद सोचिये जिन लोगों को जनता यह सोचकर चुनती है की वो उनके अधिकार और हक़ के लिए लड़ेंगे और अगर वही जन प्रतिनिधि भोली भाली जनता के साथ छल करे तो जनता कहाँ जाए । जब इस विषय में हमने ग्रामीणों से पूछा तो बैजना पंचायत की वार्ड सदस्य राधा देवी ने कहा की एक तो दोनों डीलरों द्वारा पिछले लगभग 2-3 महीनो से रासन सामग्रियों का वितरण ग्रामीणों के बीच नहीं किया गया है और दूसरी और जनता को गुमराह करके पंचायत भवन में ग्रामीणों के अँगुलियों के निशान ई मशीन पर लिया गया है ।

जब खाद्य आपूर्ति पदाधिकारी सुबोध कुमार से इस विषय में पूछा गया तो उन्होंने कहा की इसकी कोई जानकारी नहीं है लिखित शिकायत मिलने पर दोनों डीलरों के खिलाफ कार्यवाही की जायेगी ।जब इस विषय में हमने मुखिया प्रतिनिधि अजय पासवान से जानकारी लेनी चाही तो मुखिया प्रतिनिधि ने इस में कुछ भी कहने से अपना पल्ला झाड़ लिया।

रिपोर्ट- गणेश रावत

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here