पूर्व सांसद के घर पर हुई आगजनी एवं तोड़फ़ोड़ के मामले के आरोपियों ने अदालत में दी जमानत अर्जी

0
92

सुलतानपुर : पूर्व सांसद के घर पर हुई आगजनी एवं तोड़फ़ोड़ के मामले में तीन आरोपियों की तरफ से एडीजे/एफटीसी की अदालत में जमानत अर्जी प्रस्तुत की गई। जिस पर सुनवाई के पश्चात सत्र न्यायाधीश अभय कृष्ण तिवारी ने आरोपियों की जमानत अर्जी खारिज कर दी।

मामला कोतवाली नगर क्षेत्र के पांचोपीरन कस्बे का है। जहां पर 14 दिसम्बर 2015 को दो पक्षों के बीच हुए विवाद में गोली लगने से हाजी मोइनुद्दीन की मौत हो गई।जिनकी हत्या के आरोप में पूर्व सांसद के पिता व भाइयो के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया।इस दौरान पूर्व सांसद के घर में तोड़फ़ोड़ और आगजनी भी की गई। इस घटना के बावत पूर्व सांसद मो. ताहिर के पिता इरफान गनी खां ने भी मुकदमा दर्ज कराया। उनके आरोप के मुताबिक चुनावी रंजिश को लेकर आरोपी मुईद अहमद उर्फ़ बड़कऊ व उनके समर्थक असलहे आदि से लैस होकर उनके दरवाजे पर आये और पटाखे फ़ोड़ने लगे, जिससे पास स्थित जानवरों की मण्डी में बंधे जानवर भड़कने लगे तो व्यापारियों ने पटाखा दूर दगाने की बात कहते हुए विरोध जताया तो आरोपीगण हमले पर आमादा हो गए और उनके घर में घुसकर व्यापारियों आदि को मारने-पीटने लगे और पूर्व सांसद के वाहनों एवं मकान आदि में आग लगा दिया तथा जमकर तोड़फ़ोड़ भी किया। इसी मामले में आरोपी नब्बू उर्फ़ रईश अहमद, रिज्जू खां व मशीहुद्दीन उर्फ़ मस्सू की तरफ से जमानत अर्जी प्रस्तुत की गई । जिसे सुनवाई के लिए एडीजे/एफटीसी कोर्ट पर ट्रांसफर कर दिया गया था। अभियोगी इरफान गनी खां ने कोर्ट पर संदेह व्यक्त करते हुए जिलाजज की अदालत में अर्जी देकर जमानत प्रार्थना-पत्र इस अदालत से ट्रांसफर करने की मांग की थी। फिलहाल जिला न्यायाधीश प्रमोद कुमार पंचम ने इरफान गनी की अर्जी को निराधार पाते हुए खारिज कर दिया था। जिसके चलते उसी अदालत में जमानत अर्जी की सुनवाई बरकरार रही। जिसके क्रम में तीनों आरोपियों की तरफ से प्रस्तुत जमानत अर्जी पर सुनवाई के दौरान बचाव पक्ष ने आरोपों को निराधार बताया, वहीं शासकीय अधिवक्ता पवन कुमार दूबे ने अपराध को अत्यंत गंभीर बताते हुए जमानत पर विरोध जताया। तत्पश्चात सत्र न्यायाधीश अभय कृष्ण तिवारी ने आरोपियो की जमानत अर्जी खारिज कर दी।

रिपोर्ट – संतोष कुमार यादव

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here