गैंगरेप के आरोपी सपा नेता गायत्री प्रजापति की जमानत याचिका खारिज

0
108


लखनऊ ब्यूरो : महिला के साथ गैंगरेप के आरोप में जेल में बंद समाजवादी पार्टी के नेता और पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति की जमानत याचिका को हाईकोर्ट ने शुक्रवार को खारिज कर दिया है. इस मामले में हाईकोर्ट ने कहा कि आरोपी को जमानत देने के मामले में एडीजे ने काफी जल्दबाजी दिखाई है. बता दें, कि बीते 20 अक्टूबर, 2016 को इस मामले की एफआईआर चित्रकूट की रहने वाली पीड़िता ने दर्ज कराई थी, जिसमें गायत्री व आशीष शुक्ला को नामजद किया था |

 

कथित रूप से प्रजापति ने पीड़िता को खनन पट्टे का लालच देकर लखनऊ बुलाया था. यहां रामकृष्ण होटल में उसके ठहरने का इंतजाम किया और वहां उससे शारीरिक संबध बनाने को कहा. यहां तक कि शारीरिक संबंध से मना करने पर धमकी दी गई थी. जमानत देने वाले जज सस्पेंड इससे पहले इलाहाबाद हाई कोर्ट की प्रशासनिक समिति ने दुष्कर्म के एक मामले में आरोपी गायत्री प्रजाप्रति को जमानत देने वाले न्यायाधीश ओम प्रकाश मिश्रा को निलंबित कर दिया था. मुख्य न्यायाधीश डी.बी. भोंसले ने गायत्री प्रसाद प्रजापति को जमानत दिए जाने न्यायाधीश के आदेश पर कड़ा रुख अख्तियार करते हुए अतिरिक्त जिला और सत्र अदालत के न्यायाधीश की सभी शक्तियां भी छीन लीं. अवैध खनन मामले में सीबीआई जांच उच्च न्यायालय में शुक्रवार को एक याचिका पर सुनवाई के दौरान यह फैसला आया है, जिसमें योगी आदित्यनाथ सरकार ने दागी मंत्री को जमानत दिए जाने को चुनौती दी थी. गायत्री प्रजापति पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की सरकार में खनन और परिवहन मंत्री थे. उनके खिलाफ अवैध खनन को संरक्षण देने के आरोप की सीबीआई जांच भी जारी है. अमेठी से पूर्व विधायक पर एक महिला के साथ दुष्कर्म और उसकी नाबालिग बेटी के साथ दुष्कर्म के प्रयास का आरोप है

रिपोर्ट – मिंटू शर्मा 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here