बलिया रागिनी हत्याकांड : हत्यारोपी प्रधान का भतीजे संग समर्पण

बलिया(ब्यूरो)। रागिनी हत्याकांड में बैकफुट पर आ चुकी पुलिस को शुक्रवार को तब एक और झटका लगा, जब फरार चल रहे शेष दोनों हत्यारोपित सीजेएम कोर्ट में सरेंडर कर दिये। न्यायालय ने प्रधान समेत दोनों हत्यारोपितों को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया।

बांसडीह रोड थाना क्षेत्र के बजहां गांव निवासी जितेंद्र दुबे की बेटी रागिनी (17) की जघन्य हत्या मंगलवार की सुबह कर दी गयी थी। मामले में जितेन्द्र की तहरीर पर पुलिस ने बजहां के प्रधान कृपाशंकर तिवारी, उसके पुत्र प्रिंस तिवारी, भतीजा सोनू तिवारी व नीरज तिवारी तथा राजू यादव के खिलाफ धारा 147, 148, 302, 354 आईपीसी के तहत केस दर्ज कर लिया। पुलिस ने वारदात के दिन ही मुख्य आरोपी प्रिंस व राजू यादव को गोरखपुर से गिरफ्तार कर लिया था।

पुलिस प्रधान के साथ ही फरार चल रहे तीन आरोपितों की तलाश में जुटी थी। एसपी सुजाता सिंह ने जिले के तेजतर्रार थानाध्यक्षों तथा स्वॉट टीम को फरार हत्यारोपितों को पकड़ने की जिम्मेदारी सौंपी थी, लेकिन पुलिस के चक्रव्यूह को तोड़ते हुए तीसरा आरोपी नीरज तिवारी गुरुवार को कोर्ट में सरेंडर कर दिया था। बावजूद इसके पुलिस सक्रिय नहीं हुई, लिहाजा छात्रा रागिनी हत्याकांड में आरोपी प्रधान कृपाशंकर तिवारी अपने भतीजा सोनू तिवारी के साथ शुक्रवार को न्यायालय में सरेंडर कर दिया। लेकिन पुलिस को भनक तक नहीं लगी, जो रागिनी हत्याकांड के प्रति पुलिस की सक्रियता बताने के लिए काफी है।

 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY