खून से लाल हुई बलिया की सड़कें

बलिया ब्यूरो : सड़कों को गड्ढ़ामुक्त करने का सिलसिला जारी है, फिर भी हादसों का सिलसिला नहीं थम रहा। तेज रफ्तार तो लोगों की जान ले ही रही है, बगैर हेलमेट बाइक चलाने वालों पर भी लगाम नहीं लग पा रही। पुलिस जांच भी करती है तो कुछ का चालान काटती है, और कुछ को ‘दक्षिणा’ लेकर छोड़ दे रही है। इस वजह से शासन की सख्ती के बाद भी यातायात कानून की धज्जियां उड़ रही है। चौबीस घंटे के अंदर रसड़ा कोतवाली के गाजीपुर मार्ग व सिकंदरपुर-मनियर मार्ग के साथ ही बलिया-बैरिया मार्ग पर हुए दुर्घटनाओं में चार लोगों के मरने की खबर है, जबकि आधा दर्जन से अधिक घायल है।

शहर कोतवाली थाना क्षेत्र के पिपरा ढ़ाले के पास सोमवार की रात अनियंत्रित कार पेड़ से टकरा गई। हादसे में एक युवक की दर्दनाक मौत हो गई, जबकि एक युवक गंभीर रूप से घायल हो गया। शहर से सटे बांसडीहरोड थाना क्षेत्र अंतर्गत तिखमपुर निवासी शशिभूषण पाण्डेय (45) सोमवार की देर रात अपने श्वसुर राजेन्द्र पाण्डेय को छोड़ने के लिए सीताकुण्ड, हल्दी जा रहे थे। सामने से आ रही एक वाहन को बचाने के प्रयास में इनकी कार अनियंत्रित होकर पेड़ से टकरा गई। रास्ते से गुजर रहे कुछ लोगों ने मौके पर पहुंचकर घायलों को जिला अस्पताल पहुंचाया, जहां चिकित्सकों ने शशिभूषण पाण्डेय को मृत घोषित कर दिया।

रसड़ा प्रतिनिधि के अनुसार रसड़ा कोतवाली क्षेत्र में अलग-अलग स्थानों पर हुए सड़क हादसों में दो लोगों की मौत हो गई, जबकि एक व्यक्ति गंभीर रूप से घायल हो गया। सोमवार की रात रसड़ा-कासिमाबाद मार्ग पर पैदल ही घर जा रहे सरदासपुर निवासी मुन्ना राजभर (30) को अखनपुरा के समीप कटहुरा मोड़ पीछे से ट्रक ने धक्का मार दिया। इससे उसकी घटना स्थल पर ही मौत हो गई। घटना के बाद चालक तेजी से भाग निकला। वहीं, जेवइनियां से निमंत्रण में शामिल होकर अपने मित्र घनश्याम यादव (40) के साथ अपने गांव प्रधानपुर लौट रहे सियाराम यादव (35) अचानक रसड़ा की तरफ आ रही स्कार्पियो की चपेट में आ गए। इससे दोनों लोग गंभीर रुप से घायल हो गये। दोनों घायलों को रसड़ा सीएचसी पहुंचाया गया, जहां चिकित्सकों ने सियाराम यादव को मृत घोषित कर दिया। उधर, सिकन्दरपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत मनियर मार्ग पर खरीद चट्टी के समीप मैजिक के धक्के से बाबूलाल गोंड (65) की मौत हो गई। पुलिस ने पंचनामा के बाद शव परिवार वालों को सौंप दिया। खरीद निवासी बाबूलाल गोंड सोमवार को भोर में करीब पांच बजे चट्टी से थोड़ी दूर सड़क के किनारे खड़े थे। उसी दौरान मनियर की तरफ से आ रही तेज रफ्तार मैजिक ने उन्हें धक्का मार दिया। गंभीरावस्था में बाबूलाल को अस्पताल ले जाने क तैयारी चल रही थी, तभी उनकी सांस थम गयी। दुर्घटना के बाद चालक वाहन लेकर भाग निकला।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here