बैंकर्स रात-दिन काम करें और निर्धारित समय सीमा में शत-प्रतिशत आधार लिंक कराना सुनिश्चित करें : जिलाधिकारी

0
62

मैनपुरी (ब्यूरो) जिस किसान का आधार लिंकेज उसके फसली ऋण खाते में न हुआ तो वह फसली ऋण मोचन योजना का लाभ पाने से वंचित रह जायेंगे और इसके लिये सीधे तौर पर बैंकर्स जिम्मेदार होंगे बैंकर्स की गैर जिम्मेदाराना कार्यशैली के कारण आधार लिंकेज की स्थिति काफी असंतोष जनक है जनपद प्रदेश में 45 वें स्थान पर है। बैकर्स रात-दिन काम करें और निर्धारित समय सीमा 22 जुलाई की मध्य रात्रि से पूर्व सभी केसीसी खातों में आधार लिंकेज,भूलेख मैपिंग को शत प्रतिशत कराना सुनिश्चित करें जिन कृषकों के पास आधार कार्ड नहीं हैं उनकी भूलेख मैपिंग की जाये।

उक्त निर्देश जिलाधिकारी यशवंत राव ने फसली ऋण मोचन येाजना की बैठक की समीक्षा के दौरान दिये। उन्हांेने नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि कुछ बैंको द्वारा कार्य में शिथिलता बरती जा रही है। उन्होनंे बैंकर्स को सचेत करते हुए कहा कि यदि कोई किसान येाजना का लाभ पाने से वंचित रहा तो इसके लिए संबंधित बैंक जिम्मेदार होगें,क्योंकि बैंक के केसीसी ऋण का डाटा फीडिंग का कार्य संबंधित बैकों द्वारा ही किया जाना है। उन्होने बैंकर्स से कहा कि बैंको को पैसा वसूलने का अवसर मिला है इसलिए इस मौके से न चूकें, आउट सोर्सिंग,साइवर कैफे के माध्यम से अपने यहां के सभी केसीसी धारको का फीडिंग का कार्य कराना सुनिश्चित करें। उन्होने समीक्षा के दौरान आधार कार्ड भूलेख मैपिंग में सबसे ज्यादा खराब प्रगति बैंक आफ इण्डिया,भारतीय स्टेट बैंक,इलाहाबाद बैंक ,पंजाब नेशनल बैंक की पायी,भूमि विकास बैंक,ग्रामीण बैंक आफ आर्यवृत्त की स्थिति सन्तोषजनक मिली।

बैठक में मुख्य विकास अधिकारी विजय कुमार गुप्ता, अपर जिलाधिकारी (वि.रा.) बी.राम,उप निदेशक कृषि यू.बी.सिंह गौतम, अग्रिण जिला प्रबन्धक डी.के. अग्रवाल, जिला सूचना विज्ञान अधिकारी मयंक शर्मा, जिला कृषि अधिकारी पी.सी. विश्वकर्मा सहित विभिन्न बैकों के शाखा प्रबन्धक उपस्थित रहे ।

रिपोर्ट – दीपक शर्मा

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY