बरसात ने खोली प्रशासन की पोल, गड्ढ़ों में तब्दील हुई सड़कें

इटावा(ब्यूरो)- उत्तर प्रदेश के इटावा जिले की नगर पालिका की पोल उस समय खुल गई, जब बरसात के चलते मुख्य स्थानों पर पानी भर गया। यह पानी लगातार चार दिनों तक भरा रहा लेकिन नगर पालिका इस पानी को निकालने में नाकाम साबित होती रही। नगर पालिका के लगातार प्रयास करने के बाद आज चौथे दिन पानी निकाला गया।

प्रदेश सरकार के मुखिया योगी आदित्यनाथ चाहे कितने भी दावे कर ले पर उनके दावों पर इटावा नगर पालिका पानी फेर देती है। नगर पालिका के पास पर्याप्त संशाधन होने पर भी नगर पालिका पानी निकालने में असफल हो जाती है। यह नजारा मैनपुरी फाटक के अंडर ब्रिज का है जहां पर लगातार आज चार दिन आवागवन बंद पड़ा रहा। नगर पालिका की लाख कोशिशों के चलते आज पांचवे दिन पानी को निकाला गया। तब जाकर कही आवागवन चालू हुआ। शहरवासियों ने ही नहीं ट्रक, बसों के ड्राइवरों ने भी राहत की सांस ली।

कहने को तो इटावा जिले में चिकनी-चौड़ी सड़के देखने को मिल जाती है लेकिन इनके रख-रखाव पर कोई भी ध्यान नहीं देता है। यही कारण है कि मैनपुरी फाटक के अंडर ब्रिज पर चार दिन से बस और ट्रक फसे हुए थे। पांचवे दिन आवागवन शुरू हुआ। आपको बता दे कि यह आगरा, दिल्ली, मथुरा की ओर जाने वाली सभी रोड़वेज बसों का मुख्य रास्ता है ।

रिपोर्ट- सुशील कुमार 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here