भ्रष्टाचार को बढ़ावा दे रहें बैरिया विधायक : बलवंत

0
93

बलिया(ब्यूरो) – बैरिया विधायक भ्रष्टाचार को बढ़ावा देने के लिए आये दिन इल-जूलूल हरकत करने के साथ ही सरकारी तंत्र के निचले कर्मचारियों से उलझ रहे है, ताकि उनकी मनमानी होती रहे और उनकी जेब भरती रहे। उक्त बातें मंगलवार को राज्य कर्मचारी महासंघ व श्रमिक समन्वय समिति के अध्यक्ष बलवंत सिंह ने कहीं। वें विकास भवन के सभागार में खबरनविशों से मुखातिब हो रहे थे।

उन्होंने कहा कि चाहे वन दारोगा के साथ मारपीट अथवा उनके भतीजें द्वारा कानूनगो के साथ हुई हाथापाई की घटना हो इन मामलों से विधायक का आर्थिक हित जुड़ा रहा है। कहा कि यही कारण है कि विधायक जी अपनी मनमानी की खातिर आये दिन गिरी हरकतें करने से बाज नहीं आ रहे है। कर्मचारियों द्वारा आन्दोलन वापस लिये जाने के मुद्दे पर श्री सिंह ने कहा कि आबादी की भूमि की पैमाइश करना किसी भी लेखपाल के लिए संभव नहीं है। ऐसे में जबरन मारपीट के द्वारा सरकारी कर्मचारी से अपनी मनमानी कराना अनुचित व गलत था|

यही कारण रहा कि राज्यकर्मचारी संघ ने इसके खिलाफ व्यापक स्तर पर आंदोलन किया। कहा कि हमारी मांग थी कि आरोपी को गिरफ्तार किया जाये जिसे जिला प्रशासन ने पूरा किया और आरोपी तथा उसके सहयोगियों को पुलिस द्वारा गिरफ्तार किया गया। जिसके बाद संगठन ने आंदोलन वापस लेने का निर्णय किया। लेखपाल द्वारा घूस लेने का वायरल हुए वीडियों की बाबत कहा कि यह कर्मचारियों को बदनाम करने की नियत से बनाया गया है।

साथ ही कहा कि बावजूद इसके घूस देने वाले दोनों लोगों के खिलाफ कारवाई की जानी चाहिये। इसके लिए संगठन ने जिला प्रशासन को पत्र भी लिखा है। श्री ने कहा कि इस विवाद के दौरान नगर विधायक द्वारा कर्मचारियों के खिलाफ दिये गये बयान व अपशब्द की सभी कर्मचारी संगठन निंदा करते है। यह महज सस्ती लोकप्रियता हासिल करने का एक हथकंडा है। कहा कि जिलाधिकारी से वार्ता के दौरान यह आश्वासन मिला है कि कर्मचारी जैसे को तैसा की तर्ज पर काम करेंगे।

उन्होंने कहा कि राज्य कर्मचारी महासंघ की मॉग है कि जो भी कर्मचारी जनप्रतिनिधि कर्मचारियों से दुर्व्यवहार करता है उसकी सदस्यता समाप्त होनी चाहिये। क्योंकि कार्यपालिका व विधायिका में होने वाले टकराव से आमजन का नुकसान होता है। प्रेस वार्ता के दौरान मुख्य रूप से हीरालाल चौरसिया, अजय कुमार सिंह, कौशल उपाध्याय, संजय भारती, रामपूजन, अजय कुमार चौबे, अविनाश उपाध्याय, राजेश कुमार पाण्डेय, छठ्ठू यादव, आदि मौजूद रहे।

रिपोर्ट- अजीत ओझा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here