आंध्र प्रदेश 28,756 करोड़ रुपये की लागत पर 31 अमृत शहरों के लिये मूलभूत सुविधायें सुनिश्चित करेगा |

0
440

atal mission

कायाकल्‍प और शहरी परिवर्तन  के लिये   अटल मिशन के अन्‍तर्गत अगले पॉंच वर्षों के दौरान जल आपूर्ति, सीवरेज तथा सेप्‍टेज प्रबंधन, जल निकास, शहरी परिवहन तथा हरित क्षेत्र तथा पार्क संबंधित मूलभूत सुविधायें सुनिश्चित करने हेतु, आंध्र प्रदेश सरकार ने राज्‍य में 31 मिशन शहरों तथा कस्‍बों के लिये एक व्‍यापक अमृत कार्य योजना प्रस्‍तावित की है। इस पर अनुमानित 28,756.30 करोड़ रुपये की लागत आयेगी।

चालू वित्‍त वर्ष (2015-16) के लिये राज्‍य सरकार ने जल आपूर्ति परियोजनाओं तथा पार्कों के विकास के लिये, अपनी राज्‍य स्‍तरीय वार्षिक कार्य योजना हेतु, केंद्रीय विकास मंत्रालय से, 673.12 करोड़ रुपये की केंद्रीय सहायता के लिये मंज़ूरी मांगी है।

राज्‍य की राज्‍य स्‍तरीय वार्षिक कार्य योजना राज्‍य स्‍तरीय योजनाओं पर आधारित है, जो कि मूलभूत सुविधाओं में मौज़ूद कमियों और शहरी क्षेत्रों के लिये निर्धारित मानकों को पूरा करने के लिये आवश्‍यक निवेशों का मूल्‍यांकन करने के बाद तैयार की गई है।

आंध्र प्रदेश के अमृत शहरों तथा कस्‍बों में पानी के कनैक्‍शनों की मौज़ूदगी 7.50 प्रतिशत (तेनाली) से लेकर 78.80 प्रतिशत (राजामुंदरी) तक है। कुल मिलाकर, वर्तमान में मिशन शहरों के सभी शहरी घरों में से केवल 50.22 घरों में ही पानी के कनैक्‍शन हैं।

जिन शहरों में पानी के कनैक्‍शन 30 प्रतिशत से भी कम घरों में हैं, वे हैं; तेनाली (7.50 प्रतिशत), मदनपल्‍ली (20 प्रतिशत), चित्‍तोड़ (21 प्रतिशत), तथा विजयनगरम (30 प्रतिशत)

जिन शहरों में पानी के कनैक्‍शन 31 से 50 प्रतिशत घरों में मौज़ूद हैं, वे हैं; श्रीकाकुलम् (58 प्रतिशत),  भीमवरम् (43.60 प्रतिशत), काकीनाड़ा (49.36 प्रतिशत),  विजयवाड़ा (48.75 प्रतिशत),   गुडि़वाड़ा (48 प्रतिशत),  मछलीपटनम् (50 प्रतिशत),  तिरुपति (45 प्रतिशत),  ओंगोल (49 प्रतिशत),  नेल्‍लौर (45 प्रतिशत),  प्रोद्यतुर (45 प्रतिशत),  ताडि़पत्रि (42.50 प्रतिशत),  हिंदूपुर (37 प्रतिशत),  गुंतकल (47 प्रतिशत),  अनंतपुर (45 प्रतिशत),  कुरनूल (45.94 प्रतिशत) तथा अदोनी (43 प्रतिशत)।

जिन शहरों में पानी के कनैक्‍शन 51 से 75 प्रतिशत घरों में मौज़ूद हैं, वे हैं; विशापट्टनम् (61 प्रतिशत), तडिपल्लिगुडम (57.37 प्रतिशत), एलुरु (66.31 प्रतिशत) , चिल्‍लकल्‍लुरिपेटा (51 प्रतिशत), नरसारावपेटा (61.46 प्रतिशत), कदपा (52 प्रतिशत), धरमावरम् (69 प्रतिशत) तथा नंद्याल (50.85 प्रतिशत)।

75 प्रतिशत से अधिक पानी के कनैक्‍शन केवल राजामुंदरी (78.80 प्रतिशत) में ही मौज़ूद हैं।

आंध्र प्रदेश के अमृत शहरों में जल आपूर्ति औसतन 104 लीटर प्रति व्‍यक्ति प्रति दिन है, जबकि शहरी क्षेत्रों के लिये यह मानक 135 लीटर प्रति व्‍यक्ति प्रति दिन का है।

अटल मिशन के तहत 120 करोड़ रुपये की लागत पर हरित क्षेत्र तथा पार्क भी वि‍कसित किये जायेंगे।

Source – PIB

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here