बैंकों की समीक्षा बैठक कर कहा जनता से मैत्रीपूर्ण व्यवहार करें बैंक कर्मी: जिलाधिकारी

0
64

सोनभद्र(ब्यूरो)- बैंक जनता के साथ मैत्रीपूर्ण व्यवहार करते हुए रोजगार परक योजनाओं को मूर्त रूप देने में सकारात्मक सहयोग कर जिले के विकास में सार्थक भूमिका निभाए, जिले के सभी बैंक भारत सरकार और रिजर्व बैंक आफ इण्डिया के दिशा-निर्देशों के अनुरूप सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं के लाभार्थियों के प्रति नियमित जिम्मेदारी के साथ ही मानवीय नैतिकता भी निभायें और जनता के भलाई के लिए कम ब्याज पर कर्ज मुहैया करायें।

उक्त निर्देश जिलाधिकारी प्रमोद कुमार उपाध्याय ने कलेक्ट्रेट मीटिंग हाल में बृहस्पतिवार को ‘‘ बैंकों की जिला स्तरीय समीक्षा एवं जिला परामर्शदात्री समिति ‘‘ की बैठक की अध्यक्षता करते दिये । जिलाधिकारी श्री उपाध्याय ने कहा कि जो बैंकर्स जनता के भलाई के मुताबिक न काम करें, उनके खिलाफ समिति द्वारा प्रस्ताव पास कराकर, उन्हें सुधारा जाय। उन्होंने सी0सी0एल0 की पेन्डिंग कार्योंं को निस्तारित करने, किसान क्रेडिट कार्ड सुगमता के साथ बनाये जाने, किसानों को परेशान न करने की हिदायत सम्बन्धितों को दी। जिलाधिकारी ने लीड बैंक प्रबन्धक करूणेश कुलश्रेष्ठ को निर्देशित किया कि जिन बैंकों की प्रगति खराब है, उनमें सुधार के लिए आवश्यक कदम उठायें जाय, ताकि बैंकों का सीडी रेशियों बढ़े। जिलाधिकारी श्री उपाध्याय ने अच्छे कार्य करने वाले बैकर्स को शाबासी दी और खराब कार्य करने वालों को चेताते हुए लीड बैक प्रबन्धक को उनके उच्चाधिकारियों को उनके खिलाफ कार्यवाही करने के लिए डीएलबीसी की तरफ से पत्र लिखने के निर्देश दिये ।

समीक्षा बैठक में मुख्य प्रबन्धक अग्रणी बैंक प्रकोष्ठ करूणेश कुलश्रेष्ठ ने बिन्दुवार तथ्य समिति के समक्ष प्रस्तुत करते हुए बारी-बारी से सम्बन्धित बैंकों की जिम्मेदारियों को प्रस्तुत करते हुए उदासीन/निर्धारित लक्ष्य को पूरा न करने वाले बैंक अधिकारियों को सचेत किया और समिति को अवगत कराया कि सभी बैंक अनिवार्य रूप से अपने कार्य क्षेत्र में लक्ष्य को पूरा करेंगे। उन्होने बैंको के पदाधिकारियों को सचेत करते हुए कहाकि बैकों का राष्ट्रीकरण विशेष रूप से गरीबों की बैंकिंग सेवाओं के माध्यम से भलाई/उत्थान व सरकार द्वारा चलाई जा रही जन कल्याणकारी एवं स्वरोजगार परक योजनाएं को मूर्त रूप देने में सकारात्मक सहयोग के निमित्त किया गया है।

बैठक में पिछली बैठक की कार्यवाही की पुष्टि, बैंक के ऋण जमा अनुपात पर चर्चा, वार्षिक ऋण योजना- 2017-18, किसान क्रेडिट कार्ड योजना, मत्स्य पालन योजना, कामधेनु/मिनी कामधेनु व्याज मुफ्त योजना , राष्ट्रीय आजीविका ग्रामीण मिशन, किसान क्लब का गठन, राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन योजना, कर्ज वसूली पर चर्चा , स्पेशल कम्पोनेन्ट प्लांन, डी0आर0आई0, कामर्शियल लेयर्स फार्म योजना, ब्रायलर पैरेन्ट फार्म योजना, शाखा विस्तार, आरसेटी, प्रधान मंत्री मुद्रा योजना, स्टैण्डअप इण्डिया योजन, मा0 प्रधान मंत्री जी द्वारा बीमा योजना, मुख्य मंत्री ग्रामीण योजना, प्रधान मंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम योजना आदि की समीक्षा की गयी। बैंकों की समीक्षा बैठक में जिलाधिकारी प्रमोद कुमार उपाध्याय, मुख्य विकास अधिकारी रामाश्रय, बैंकों के प्रतिनिधिगण, कु0 सविता, अफसर अली बैंकों के शाखा प्रबन्धकगण, जिले के सम्बन्धित अधिकारीगण सहित अन्य जिला स्तरीय अधिकारीगण आदि मौजूद रहे । बैठक का संचालन मुख्य प्रबन्धक अग्रणी बैंक प्रकोष्ट करूणेश कुलश्रेष्ठ ने किया।

रिपोर्ट – ज़मीर अंसारी

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY