बीमारी के दौरान इलाज के आभाव में हुयी विवाहिता की मौत

0
27


सोनभद्र (ब्यूरो)- शाहगंज थाना क्षेत्र के राजपुर गांव ने मंगलवार की शाम बीमारी के दौरान इलाज के आभाव में हुयी मौत के मामले में मृतका के मायके वालों ने जान बुझ कर इलाज न कराने के चलते मौत हुई है का आरोप ससुराली जनों पर लगा थाने तहरीर दी है| पुलिस ने शव को कब्जे लेकर पोस्टमार्टम हेतु जिला अस्पताल भेज दिया है।

सूत्रों से मिली खबर के मुताबिक मिर्ज़ापुर जिले के मड़िहान थाना क्षेत्र पचोखरा गांव निवासनी अमरावती पत्नी स्व: किशोरी सोनकर की पुत्री बिंदु की शादी तकरीबन दस वर्ष पूर्व शाहगंज थाना क्षेत्र के राजपुर गांव के मोहल्ला बेलहवा निवासी बबलू सोनकर से हुयी थी जिसे तीन औलादें हुयी जिसमे दो की मृत्यु हो गयी थी मृतका बिंदु को एक 8, वर्षीय बेटा जीवित है । मृतका का पति बबलू दूसरी पत्नी भी रख लिया है और परिजनों व् ग्रामीणों के मुताबिक मृतका बिंदु 26 वर्ष की विगत 6, माह पूर्व से तबियत खराब होना बताया जा रहा है जिसके इलाज में पति द्वारा कोई ठोस पहल नहीं की गयी तथा उसके इलाज के प्रति लापरवाही कर जान बुझ कर मौत के मुंह में धकेल दिया गया।

यह आरोप मृतका की मां अमरावती देवी ने लगाते हुए थाना पुलिस को एक लिखित तहरीर दिया है और उसका यह भी कहना है कि मेरी लड़की की तबियत कितने दिनों से खराब है कि कोई जानकारी नहीं दिया गया, बावजूद इसके जब मेरी लड़की की मंगलवार को सायं मौत हो गयी तो उसकी भी खबर नहीं दी गयी बल्कि शव को दाह संस्कार हेतु ले जाने की तैयारी की जा रही थी तभी मेरे किसी एक रिस्तेदार से मुझको खबर मिली की मेरी लड़की बिंदु की मौत हो गयी है और मैं आनन फानन में अपने घर पचोखरा से रात करीब 8 बजे बेटी के ससुराल आयी तो यहां का नजारा देख दंग रह गयी ।

अमरावती ने बताया कि फिर हम पीड़िता रात में ही थाने जाकर घटना की सूचना दिया और डायल 100 पुलिस को फोन कर बुलाया तब जाकर शव को पुलिस ने अपने कब्जे में लेकर बुधवार को पीएम के लिए भेज दिया गया । मृतका की माँ ने थाने में लिखित तहरीर देकर न्याय की गुहार लगाई है ,जिसपर थाना पुलिस का कहना है कि जब तक पीएम रिपोर्ट नहीं आ जाती तबतक कुछ नही हो सकता , ओएम रिपोर्ट आने के बाद ही पुलिस अग्रिम कार्रवाई कर पायेगी ।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY