अखरोट से होने वाले फायदे

0
52

स्वास्थ्य :- अखरोट ड्राई फ्रूट्स में से एक होता है। अखरोट खाना हर किसी को पसंद होता है, हां कुछ लोग ये सोचकर इसे खाने से परहेज़ करते हैं कि इसमें बहुत अधिक कैलोरी होती है। शायद उन्हें अखरोट से मिलने वाले सभी फायदों की जानकारी नहीं होती। अखरोट हमारे मेटाबॉलिज़्म से लेकर दिल की सेहत तक का ख्याल रखता है।

अखरोट स्वास्थ्यवर्धक गुणों से परिपूर्ण होता हैं। इसके बीज में मौजूद प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, विटामिन और एसेंशियल मिनरल स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होते हैं। अखरोट को ब्रेन फूड भी कहा जाता है। क्योंकि अखरोट की सतह की संरचना दिमाग की तरह होती है। इसी कारण की वजह से अखरोट को बुद्धि का प्रतीक भी कहा जाता है। अखरोट में ओमेगा-3 फैटी एसिड होता है जो दिमाग की एक्टिविटी को बढ़ाने में मदद करता है। इसके साथ ही अखरोट में एंटीऑक्सीडेंट और प्रोटीन होते हैं जो स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होते हैं।

अखरोट उन्हें बीमारियों से भी बचा सकता है
अखरोट खाने से कैंसर, ह्रदय रोग और अन्य बीमारियों का होना संभवता कम होता होता है | एक शोध में अखरोट के बारे में कहा गया कि इसके खाने से लोगों को कैलोरी से सम्बंधित चिंताओं को कम करता है और इसे आप अपनी रोज की खुराक में शामिल कर सकते हैं और ये जरुरी नही कि उच्च वसा वाली चीजे ही हमें वसा दें कम वसा वाली चीजें भी हमारे लिए ज्यादा फायदेंमंद शाबित हो सकती हैं | हमें कोई भी चीज खाने से पहले उसमे मौजूद कैलोरी के बारे में जानना चाहिए |

अखरोट खाने शुक्राणु भी बढ़ते हैं
पुरुषों में शुक्राणु की कमी एक बड़ी समस्या है जबकि इसे बढ़ाना बहुत ही आसन है कि 7-8 अखरोट रोजाना खाने से 21 से 35 साल के आयुवर्ग के स्वस्थ पुरुषों के समूह में शुक्राणु जीवन-शक्ति, गतिशीलता और सामान्य आकृति में शुक्राणु कि कमी से बचा जा सकता है | एक शोध में पाया गया है कि पुरुष प्रजनन क्षमता के सन्दर्भ में अगर हम अपने भोजन में अखरोट शामिल कर शुक्राणुओं को बढ़ा सकते हैं जो पुरुष प्रजनन क्षमता और प्रजनन स्वास्थ्य में कारगर शाबित हो सकता है |

अखरोट एक ऐसा मेवा है पौधों से निर्मित होता है इसके अन्दर पाए जाने वाले तत्व ओमेगा-3 फैटी ऐसिड- अल्फा-लिनोलेनिक एसिड (एएलए) है जो एक बेहतर स्त्रोत है और इसमें अनेकों प्रकार के माइक्रो-न्यूट्रिशिएंट पाए जाते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here