यह है हिन्दुस्तान का दुनिया की सबसे ऊँची चोटियों पर लड़ने वाला सबसे बेहतरीन लाइट कॉम्बैट हेलीकाप्टर (LCH)

0
23088

दिल्ली- भारत ने अब एक ऐसा हेलीकाप्टर विकसित कर लिया है जिसके बारे में जानकर आपको बेहद गर्व होगा | दरअसल हम बात कर रहे है भारत के पहले लाइट कॉम्बैट हेलीकाप्टर की, एक हेलीकाप्टर की जरुरत वायु सेना से कही ज्यादा किसी भी देश की थल सेना को होती है फिर चाहे दुश्मनों के टैंकों को ध्वस्त करने की बात हो या फिर अपनी सेना के जवानों को युद्ध स्थल तक सुरक्षित पहुंचाने की या फिर उन्हें वहां से वापस सुरक्षित लाने की | इन सभी कार्यो के लिए हर देश की सेनाओं को बेहतरीन फाइटर हेलीकाप्टर की जरुरत पड़ती है |

तो आइये जानते है भारत के सबसे बेहतरीन फाइटर हेलीकाप्टर के बारे में –
20MM टारगेट गन से लैस है यह हेलीकाप्टर-
भारतीय वैज्ञानिकों द्वारा विकसित इस हेलीकाप्टर में सामने की तरफ एक बेहतरीन 20MM टारगेट गन को फिट किया गया है | इस गन की सबसे बड़ी खासबात यह है कि इस गन को चलाने के लिए कभी भी पायलट को हेलीकाप्टर को मोड़ने की जरुरत नहीं पड़ती है बल्कि पायलट का हेलमेट जिस तरफ होता है गन का पॉइंट हमेशा उसी दिशा में होता है | इस गन की रेंज 2 किमी तक की है और एक बार में यह हेलिकप्टर 300 राउंड फायर करने की क्षमता रखता है |

रात के समय में भी दिन की ही तरह से देख सकता है –

इस हेलीकाप्टर के भीतर इन्फ्रारेड कैमरा फिट किया गया है जिसके बाद इस हेलीकाप्टर को रात दिन किसी भी मौसम में बेहद आसानी के साथ उड़ाया जा सकता है या फिर दुश्मनों का सफाया किया जा सकता है |

एंटीएयरक्राफ्ट मिसाइल से भी है लैस –
भारत द्वारा विकसित दुनिया की सबसे ऊँची-ऊँची चोटियों पर युद्ध करने में सक्षम इस हेलीकाप्टर में एंटीएयरक्राफ्ट मिसाइल को भी सेट किया गया है | इस एंटी एयरक्राफ्ट मिसाइल की रेंज 8 किमी तक की है | और इसे दुनिया की सबसे ऊँची चोटी सियाचिन पर भी ले जाया जा सकता है |

एंटी टैंक एयरक्राफ्ट-
48 एंटी टैंक एयरक्राफ्ट से लैस यह हेलीकाप्टर दुनिया के सबसे बेहतरीन हेलीकाप्टरों में गिना जाता है | एक बार में 48 एंटी टैंक राकेट लेकर उड़ने वाला सचमुच में दुश्मनों के लिए किसी काल से कम नहीं है | इसके हर एक राकेट की मारक क्षमता 8 किमी है |
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY