जानें भारत की वह विशेषतायें जिसमें हमनें पूरी दुनिया को पछाड़ा |

0
6569

भारत ! जिसका इतिहास दुनिया का सबसे गौरवमयी और प्राचीन इतिहास रहा है | जहां दुनिया की सबसे प्राचीन सभ्यता का विकास हुआ, जिस देश को मानवता और सामाजिक समरसता के लिए पूरी दुनिया में जाना जाता है | एक ऐसा देश जहां नदियों को और अपनी धरती को माता कहकर संबोधित किया जाता है |

भारत एक ऐसा देश जिसकी आबादी दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी आबादी है, एक ऐसा देश जो क्षेत्रफल की द्रष्टि से दुनिया का सातवाँ सबसे बड़ा मुल्क है | एक ऐसा देश जिसकी इकोनॉमिक ग्रोथ दुनिया की सबसे तेज है | ऐसे देश की सुरक्षा का भार भी बहुत अधिक होता है, ऐसे देश के ऊपर हमेशा से ही बाहरी आक्रान्ताओं का भय बना रहता है |

भारत पर अनेकों बार विदेशी आक्रान्ताओं ने हमला कर यहाँ लूट-पाट की, इस देश की सभ्यता और व्यवस्था को उलट-पलट कर रख दिया है | लेकिन हमेशा की ही तरह हिन्दुस्तान फिर समय के साथ अटखेलियाँ करता हुआ उठ खड़ा हुआ |

पहले के भारत और आज के भारत उसकी जिम्मेदारियों में और ताकत में अभूतपूर्व परिवर्तन हुए है, आज का भारत पुराने समय के भारत से काफी भिन्न है | आजादी के बाद से आज भारत एक शक्तिशाली राष्ट्र के रूप में उभर कर सम्पूर्ण विश्व के सामने कदम से कदम मिलाकार चलने वाला एक राष्ट्र बन गया है |

आइये जानते है भारत की वह 10 ख़ास बातें जिसमें हमनें पूरी दुनिया को पीछे छोड़ दिया है –

योग और आयुर्वेद के जनक है 

Patanjali-Yog-Peeth
हम हिन्दुस्तानियों ने पूरी दुनिया को योग और आयुर्वेद का ज्ञान दिया है | दुनिया के सबसे पहले सर्जरी करने वाले ब्यक्ति के तौर पर पूरी दुनिया में शुश्रुत को ही जानती है, उन्हें चिकित्सा पद्धति में सर्जरी का जनक कहा जाता है | योग के जरिये हमनें पूरी दुनिया में ज्ञान का संचार किया है | योग के जरिये हमनें पूरी दुनिया को बताया है कि अनेकों बिमारियों का समाधान किया जा सकता है |

भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में पूरी दुनिया ने योग को वैश्विक मान्यता दी है | योग शब्द भारत से बौद्ध धर्म के साथ चीन, जापान, तिब्बत, दक्षिण पूर्व एशिया और श्री लंका में भी फैल गया है और इस समय सारे सभ्य जगत्‌ में लोग इससे परिचित हैं |

इतनी प्रसिद्धि के बाद पहली बार ११ दिसंबर २०१४ को UN संयुक्त राष्ट्र महासभा ने प्रत्येक बर्ष २१ जून को बिश्व योग दिवस के रूप में सम्पूर्ण बिश्व भर मनाने के लिये मान्यता दी है अब जाके योग का बिश्वब्यापी परिभाषा सुनिश्चित हो पाई है |

अंतरिक्ष के क्षेत्र में सबसे बेहतर है हिन्दुस्तानी –

Space station in Earth orbit.


आज पूरी दुनिया अंतरिक्ष के रहस्यों को सुलझाने में लगी हुई है | ऐसे में भारत भी इस मामले में कब पीछे रहने वाला देश था | भारत ने हाल के कुछ सालों में पूरी दुनिया से आगे बढ़कर अंतरिक्ष के क्षेत्र में एक के बाद एक बड़ी उपलब्धियां हासिल की है |

पूरे विश्व में भारत ही एक मात्र ऐसा देश है जिसने पहले ही प्रयास में मंगल पर कदम रखा है | हम दक्षिण एशिया के इकलौते देश है जिसने मंगल पर पहुँच बनायीं है | भारत दुनिया का सबसे सस्ता उपग्रह छोड़ने वाला देश है | हम दुनिया के तमाम देशों के उपग्रह खुद से छोड़ते है |

युरेनियम मिलने में हुई दिक्कत तो थोरियम से चला दिया परमाणु कार्यक्रम –

nuclear
भारत को जैसे ही युरेनियम मिलने में दिक्कत हुई भारत ने सीधे युरेनियम की बजाय थोरियम से अपने परमाणु कार्यक्रम को चलाना प्रारंभ कर दिया |

हमारे वैज्ञानिकों ने परमाणु ईधन के तौर पर यूरेनियम 238 का प्रयोग कर पूरी दुनिया को चौंका दिया है | हमारे पास दुनिया में सबसे ज्यादा 21 थोरियम बेस्ड परमाणु रिएक्टर है |

परमाणु हथियारों में भी काफी आगे 

Missile-650x433
हमारे पास दुनिया के बेहतरीन परमाणु हथियार है | हमारे पास आज के समय में तक़रीबन 100 से लेकर 110 परमाणु हथियार है | जिनमें इंटरकॉन्टिनेंटल बैलेस्टिक मिसाइल तक शामिल है |

दुनिया के सबसे ऊँचे स्थानों पर लड़ने वाली आर्मी 

Indian_Army_
भारत की आर्मी पूरी दुनिया में सबसे ऊँचे युद्धक क्षेत्रों में युद्ध करने में सक्षम सेना है | भारतीय सेना दुनिया की इकलौती ऐसी सेना है जिसने दुनिया की सबसे ऊँचे स्थानों पर युद्ध लड़ा है और उसे जीता भी है |

भारतीय सेना दुनिया के सबसे ऊँचे स्थानों पर युद्ध लड़ने में सक्षम अत्याधुनिक सेना है | भारतीय सेना दुनिया भर के 2 मुल्कों को छोड़कर दुनिया की सबसे बड़ी सेना है | हमारी सेना में 11लाख 29 हजार 900 सक्रिय सैनिक है और 9 लाख 60 हजार रिजर्व सैनिक है |

दुनिया की चौथी सबसे बड़ी एयरफोर्स

airforce
भारतीय थल सेना के साथ-साथ दुनिया की चौथी सबसे मजबूत वायुसेना भी भारत की है | भारत की वायु सेना में 1820 एयरक्राफ्ट है | जिसमें 905 लड़ाकू विमान है और 595 बमवर्षक विमान है और 310 हमलावर विमान है |

इंटरनेट के क्षेत्र में दुनिया भर में दूसरे स्थान पर 

internet
भारत में इंटरनेट यूजर की लगातार बढती तादात से हम पूरी दुनिया इंटरनेट के क्षेत्र में चीन के बाद दुसरे सबसे बड़े यूजर वाले देश है | इस मामले में हमसे आगे बस केवल चीन ही है | लेकिन तरह से हमारा देश इंटरनेट के क्षेत्र में आगे बढ़ रहा है आने वाले 5-10 सालों में हम चीन को पीछे छोड़ आगे निकल सकते है |

आईटी सेक्टर में भी दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा देश 

it1
आईटी के मामले में भी भारत चीन के बाद दुनिया का सबसे बड़ा देश है और आकड़ों की मानें तो भारत आने वाले कुछ ही सालों में चीन को पीछे छोड़कर आईटी के मामले में दुनिया का सबसे बड़ा देश बन सकता है |

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here