भाभी प्रधान तो देवर कोटेदार, आला अधिकारी बीमार

0
188

हसनगंज/उन्नाव(ब्यूरो)- आला अधिकारियो की चौखट पर कई महीने केरोसीन व राशन न दिये जाने की शिकायतो के बाद भी सप्लाई विभाग जाँच के नाम पर सभी नियम कानून बलाये ताख पर रख कर भाभी ग्राम प्रधान तो देवर कोटेदार का गुनाह माफ किया जा रहा है। वही पात्र गृहस्थी मे गरीब राशन के लिये भटक रहे है तो अमीर मालामाल हो रहे है।

हसनगंज तहसील दिवसो मे कई बार फरियाद करने वाले आदमपुर बरेठी निवासी आदित्य प्रताप सिंह ने दो मई को ए डी एम बी एन यादव से शिकायत कर आरोप लगाये थे कि गाँव मे एक ही परिवार मे भाभी सुमन ग्राम प्रधान है तथा देवर नारेंद्र सिंह कोटेदार है जिस पर कार्ड धारको ने राशन व केरोसीन न देकर गांलिया सुनाकर भगा देने का आरोप लगाया है।

जबकि शासना देश है कि एक घर मे कोटेदार और प्रधान दोनों नही रह सकते है एक पद से इसतीफा देना होगा।लेकिन लेखपाल भी सत्यापन की अपनी रिपोर्ट लगाता है जिसको सप्लाई विभाग पास करता रहता है। वही चाँदपुर झलिहई के राम औतार,मिठाना,कांती,राजकुमार,रघुवीर प्रसाद,उदयराज,अवधेश,कमलेश,राजकुमार आदि दर्जनो कारड धारको ने चुनाव से पूर्व निवर्तमान डीएम सुरेंद्र सिहं से शिकायत कर कार्यवाही की माँग की थी ।

लेकिन सख्त निर्देशों के बाद भी चार माह के बाद भी पात्र गृहसथी मे फर्जी 87 डबल फीडिंग का कोटेदार राशन डकार रहा है।वही गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले सूची मे नाम न होने से न राशन मिल रहा है और नही ही घर मे रोशनी के लिये मिटटी का तेल नसीब हो रहा है। जबकि रानीखेडा खालसा के ग्राम प्रधान की माने तो सपा की महिला सभा सचिव के नाम कोटा है लेकिन टाउन न्योतनी के कोटेदार राजेश दो दो जगहो का गरीबो को राशन न देकर औपचारिकता पूरी की जा रही है।जबकि ग्रामीणो ने दर्जनो बार तहसील दिवसो मे आला अधिकारियो से गुहार लगाई फिर जाँच व कार्यवाही ठंडे बस्ते मे पडी है।

सराय मलकादिम के कोटे दार द्वारा जनवरी का राशन व केरोसीन डकार दिया गया।नोडल प्रभारी राजस्व सचिव धीरज साहू के गयारह फरवरी 2016 को रात्रि विश्राम के दौरान शिकायत हुई फिर भी कार्यवाही नही हुईमामला पूर्व कैबिनेट मंत्री कमाल अखतर तक पहुंचने पर कोटेदार की दुकान निरस्त हुई। लेकिन खाद्य उपायुकत के यहाँ अपील सवीकार कर एस डी एम को सुनवाई का आदेश मिला । लेकिन सप्लाई विभाग की रिपोर्ट पर गुनाह माफ कर दुकान बहाल कर दी गयी। यही हाल ढकवा जगदीश पुर के कोटेदार का राशन कालाबजारी के लिये जाते समय 53बोरी गेहुँ व छह बोरी चावल लदा लोडर ग्रामीणो ने पकडा ।

जिस पर उच्च अधिकारियो के आदेश पर कोटेदार के खिलाफ आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत थाने मे रिपोर्ट सप्लाई विभाग ने लिखाई ,बाद मे अदालत ने माफ किया । वही दोबारा छह माह बाद कोटेदार बन गया। नेवलगंज मे पिछले माह मे केरोसीन व राशन नही बटा।

यही हाल इब्राहिमपुर मे राशन बगैर वितरण के ही सतयापन कर रिपोर्ट दे दी। तहसील क्षेत्र मे बिना शादी के ही पात्र गृहसथी का लाभ उठा रहे है यह तो महज बानगी है तहसील दिवसो की एक सैकडा से अधिक शिकायतो की जाँच मे कोटेदार पास हो गये।हलाकि सप्लाई इंस्पेक्टर भाषकर ने बताया शिकायतो की जाँच सही मिलती है तो अवशय कार्यवाही की जाती है।

रिपोर्ट-राहुल राठौर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here