साहित्यकारों और क्रांतिकारियों की धरती होने के बावजूद विकास अधूरा

0
303

Bhagwantnagar
दुनिया का सबसे बडे गणतंत्र भारत के लोकसभा क्षेत्र उन्नाव में उत्तर प्रदेश की दूसरी सबसे बड़ी 166 भगवंतनगर विधान सभा है। इतिहास गवाह है कि इसी बैसवारा क्षेत्र में साहित्यकारों और क्रांतिकारियों की कमी नही थी। देश आजादी के बाद इस विधान सभा की सियासत भले ही हमेशा चर्चा में ही बनी रही हो।

लेकिन आज भी इस क्षेत्र में अशिक्षा, अशौच, स्वछता, बिजली, पानी और ना जाने कितने मुद्दे हैं जो अनछुए है। राजनैतिक आकड़ो की माने तो इस विधान सभा सीट से कांग्रेस का पलड़ा हमेशा भारी था। उन्नाव के गांधी कहे गये स्वतंत्रता संग्राम सेनानी भगवती सिंह विशारद ने इसी विधान सभा में एक या दो बार नही बल्की सात बार जीत दर्ज करके उन्नाव की राजनीति में एक कीर्तिमान स्थापित किया है।

जनपद की दूसरी सीटों के अलावां यहाँ कांग्रेस का प्रदर्शन सबसे बेहतर रहा है। वही बात यदि भाजपा की करें तो चौ० देवकीनंदन ने 1989 में इसी सीट से भाजपा को जीत दिलाकर जिले में अपना सर्व प्रथम खाता खोला था | यहाँ के मतदाताओं ने अभी तक भाजपा को कुल तीन बार और सपा, बसपा को दो-दो बार ही इस सीट से मौका दिया है। आजादी के बाद से इस सीट पर अब तक अठारह बार चुनाव हो चुके है । जिनमे नौ बार कांग्रेस ने जीत दर्ज करी है। लेकिन अब यहाँ का मतदाता सक्षम हो चुका है, वह सदरी में छिपे हुए चेहरों और चरित्र को पहचानने लगा है।सूत्रों की माने तो आज पुनः इस विधान सभा के वोटर एक ऐसे उम्मीदवार की तलाश में है जो इस क्षेत्र का ईमानदारी के साथ समुचित विकास करें | मौजूदा परिदृश्य में तो अब ऐसा लग रहा है कि किसी भी दल को नजरंजदाज नहीं किया जा सकता है।

भगवंतनगर वि० सभा० के अब तक के बने विधायक एवं उनकी पार्टी

1947 -देवदत्त मिश्रा-कांग्रेस

, 1952-देवदत्त मिश्रा-कांग्रेस,

1957-भगवती सिंह सोशलिस्ट पार्टी

, 1962-देवदत्त मिश्रा-कांग्रेस,

1967-भगवती सिंह -कांग्रेस,

1969-भगवती सिंह -कांग्रेस,

1974-भगवती सिंह -कांग्रेस
,
1977-चौ० देवकीनंदन-जनता पार्टी,

1980-भगवती सिंह -कांग्रेस,

1985-भगवती सिंह -कांग्रेस,

1989-चौ० देवकी नंदन-भाजपा

, 1991-भगवती सिंह -कांग्रेस

, 1993-चौ० देवकीनंदन-भाजपा
,
1993-डॉ शिव सागर लाल -उप चुनाव (सपा),

1996-कृपा शंकर -भाजपा
,
2002-नत्थू सिंह -बसपा,

2007-कृपा शंकर- बसपा

2012-कुलदीप सिंह सेंगर-सपा

ब्लॉग – दुर्गेश सिंह

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here