“भारत अफ्रीकी देशों से साझेदारी का महत्व समझता है” – श्री पीयूष गोयल

0
408

The Minister of State (Independent Charge) for Power, Coal and New and Renewable Energy, Shri Piyush Goyal addressing the Seminar on Focus Africa, organised by the Export-Import Bank of India, in New Delhi on October 27, 2015.

कोल, ऊर्जा तथा नवीन व अक्षय ऊर्जा मंत्रालय के केंद्रीय राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री पीयूष गोयल ने कहा है कि भारत अफ्रीकी देशों के साथ अपनी साझेदारी के महत्व को समझता है। भारत तकनीक, विशेषज्ञों, हुनरमंदों व क्षमता विकास जैसे प्रयासों के जरिये अफ्रीकी देशों को उनकी विकास गतिविधियों में निरंतर सहयोग करता रहेगा। भारतीय आयात-निर्यात बैंक (एक्जिम बैंक) द्वारा आयोजित सेमिनार ‘फोकस अफ्रीका’ के विदाई सत्र को संबोधित करते हुए श्री गोयल ने सरकार द्वारा सभी को ऊर्जा सुनिश्चित कराने व डिजिटल इंडिया पहल के जरिये अटूट संपर्क के लिए किए जा रहे प्रयासों की चर्चा की।

जिम्बॉवे सरकार में वित्त व आर्थिक विकास मंत्री पी ए चिनामासा ने अपने संबोधन में कहा कि हालांकि उनका देश प्राकृतिक व खनन संसाधनों से परिपूर्ण है, लेकिन इसका पूरा इस्तेमाल किया जाना अभी बाकी है। उन्होंने कहा कि ढांचागत विकास, खनन क्षेत्र में क्षमता वृद्धि, कल्याणकारी कार्य, शिक्षा तथा स्वास्थ्य सेवाएं आर्थिक विकास के लिए प्राथमिक क्षेत्र हैं। उन्होंने इन क्षेत्रों को मजबूत करने के लिए भारतीय उद्यमियों को आमंत्रित किया।

कोल मंत्रालय के सचिव श्री अनिल स्वरूप ने उल्लेखित किया कि भारत ने पिछले कुछ सालों में कोल क्षेत्र में तेजी से उन्नति की है। भारत ने 8.3 प्रतिशत के साथ 23 सालों में सर्वाधिक कोल उत्पादन वृद्धि दर्ज की है। पारदर्शी तरीके से ई-नीलामी व आवंटन के जरिये कोयला संपन्न राज्यों को 3.5 लाख करोड़ रुपये (तकरीबन 51.5 बिलियन यूएस डॉलर) का राजस्व प्राप्त किया है। उन्होंने कहा कि भारत, अफ्रीका के कोल क्षेत्र में भारतीय कंपनियों के जरिये खोज, खनन, कोल क्षेत्र की परियोजनाओं के विकास में साझेदारी के लिए तत्पर है।

नवीन व अक्षय ऊर्जा मंत्रालय के सचिव श्री उपेंद्र त्रिपाठी ने अक्षय ऊर्जा के स्रोतों जैसे सौर, जल व वायु के महत्व पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि भारत में ऊर्जा की बढ़ती मांग को पूरा करने के लिए ये माध्यम ऊर्जा उत्पादन की जगह लेते जा रहे हैं। उन्होंने अक्षय ऊर्जा की मशीनों की लागत कम करने संबंधी अविष्कारों के लिए मिलकर काम करने की जरूरत पर जोर दिया।

इस अवसर पर एक्जिम बैंक के सीएमडी श्री यदुवेंद्र माथुर ने अफ्रीका में भारतीय उद्यमियों व निवेशकों के साथ उपयुक्त वातावरण के निर्माण में भारत सरकार की केंद्रीय भूमिका के बारे में बताया। इस सेमिनार में 54 अफ्रीकी देश की सरकारों के उच्चाधिकारियों ने हिस्सा लिया जिसमें निवेश व विकास के लिए इकोवास बैंक, पीटीए बैंक, डीबीएसए व अफ्रेएक्जिम बैंक तथा अफ्रीका व भारतीय व्यापारिक समुदाय के प्रतिनिधि शामिल थे।

Source – PIB

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here