भारत के पास भी जल्द ही होगा पांचवी पीढ़ी का लड़ाकू विमान

0
947
रक्षा मंत्री श्री मनोहर परिकर
रक्षा मंत्री श्री मनोहर परिकर

भारत ने रूस के साथ मिलकर अक्‍टूबर 2007 में पांचवी पीढ़ी के लड़ाकू विमान (एफजीएफए) के विकास और निर्माण के लिए अंतर-सरकार समझौता (आईजीए) किया है। रूस के साथ दिसम्‍बर 2010 में किए गए अनुबंध पर आधारित एफजीएफए कार्यक्रम का प्रारंभिक डिजाइन स्‍तर जून 2013 में पूरा हो चुका है। अनुसंधान और विकास (आर एंड डी) अनुबंध पर हस्‍ताक्षर होने के बाद एफजीएफए के अगले स्‍तर पर कार्य शुरू होगा।

एफजीएफए की उन्‍नत वैमानिकी, सॉफ्टवेयर तीव्रता जैसी विशेषताओं सहित कई तकनीकों का उपयोग करने की योजना है।

यह जानकारी रक्षा मंत्री श्री मनोहर पर्रिकर ने आज लोकसभा में श्री पी. कुमार के एक प्रश्‍न के लिखित उत्‍तर में दी।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

four × 1 =