भीषण गर्मी के बावजूद भी नगर में प्रशासन द्वारा नहीं की गयी पीने के पानी की समुचित व्यवस्था

0
65

जालौन (ब्यूरो)- भीषणगर्मी के चलते स्थानीय प्रशासन द्वारा सार्वजनिक प्याऊ केंद्र अभी तक नहीं खुलवाए। देवनगर चैराहे पर लगे सरकारी हैंडपंपों पर दबंग दुकानदारों का कब्जा होने से यात्री और  नगर में आने वाले लोग पानी के दर दर भटकने को मजबूर है।

भगवान भास्कर द्वारा अपने रौद्र रूप को धारण करने से दिनों दिन आम जनमानस भीषण गर्मी से बेहाल हो रहा है। दिनों दिन बढ़ रही तपिन तथा सामान्य से अधिक तापमान में लोग अपने आव को सुरक्षित रखने के लिए घरों में दुबके रहते हैं। सुबह 8 बजे से शाम 5 बजे तक तेज लपट भरी हवाओं से लोगों का निकलना मुश्किल हो रहा है। तो वहीं, यात्रा कर रहे यात्रियों को शरीर में राहत पहुंचाने के लिए पानी की अति आवश्यकता पड़ रही है।

नगर में सबसे अधिक यात्री देवनगर चैराहे पर एकत्रित होते हैं। ऐसी सूरत में पानी की सबसे अधिक मारा मारी भी देवनगर चैराहे पर ही देखने को मिल रही है। वहीं, इन स्थानों पर जो हैंडपंप हैं भी उनके आसपास दबंग दुकानदार कब्जा किए हैं, जिससे यात्रियों को आसानी से ये हैंडपंप नजर नहीं आते हैं। ऐसे में यात्रियों को पानी के पाउच खरीदकर पीना पड़ रहे हैं। जिनकी गुणवत्ता की भी कोई गारंटी नहीं है।

बताते चलें, पूर्व में प्रशासन व नगर पालिका परिषद द्वारा यात्रियों व नगर में आने वाले लोगों के लिए प्याऊ लगवाए जाते रहे हैं। परंतु इस बार प्याऊ खुुलवाए जाने ककी ओर न तो पालिका प्रशासन ने ध्यान दिया है और न ही पालिका परिषद ने। जिसके चलते नगर के समाजसेवियों में अनिल शिवहरे, जहांगीर आलम, लालन ताम्रकार, गौरव गुर्जर, विपुल दीक्षित, अनूप चंसौलिया, प्रतीक चंसौलिया आदि ने पालिका परिषद व स्थानीय प्रशासन से नगर में प्याऊ खुलवाए जाने की मांग की।

रिपोर्ट- अनुराग श्रीवास्तव

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY