मनाई गई भिखारी ठाकुर की पुण्यतिथि

बलिया(ब्यूरो)- अखिल भारतीय विकास संस्कृति साहित्य परिषद शाखा बलिया के आनंद नगर कार्यालय पर डा. भोला प्रसाद आग्नेय की अध्यक्षता में भिखारी ठाकुर की पुण्यतिथि मनाई गई। अध्यक्षता करते हुए डा. भोला प्रसाद आग्नेय ने उन्हें महान लोक कलाकार कहा। संचालन करते हुए डा. फतेहचंद बेचैन ने कहा कि भिखारी ठाकुर भोजपुरी में शेक्सपियर थे, क्योंकि शेक्सपियर ने जो कार्य अंग्रेजी भाषा के माध्यम से समाज के लिए किया था वही कार्य भिखारी ठाकुर ने भोजपुरी भाषा के माध्यम से किया था।

डा. आदित्य कुमार अंशु ने कहा कि अपने जमाने के मामूली महाजनी पढ़ाई ही पढ़ने वाले भिखारी ठाकुर आज के पीएचडी वालों को भी मात दे रहे है। सुदेश्वर अनाम ने कहा कि अपने समय के सामाजिक कुरूतियों पर नाटक के द्वारा प्रहार कर लोगों को आंसु बहाने पर विवश कर देते थे। डा. सुशील ओझा जो श्री अमरनाथ मिश्र कालेज के प्रवक्ता है ने कहा कि भिखारी ठाकुर विदेशिया नाटक के द्वारा ख्याति अर्जित किये। नवचंद्र तिवारी ने कहा कि भिखारी ठाकुर युगों तक याद किये जायेंगे। डा. दिनेश ठाकुर ने कहा कि उनके अंदर समाज की पीड़ा और कसक छिपी थी।

इस अवसर पर डा. गयाशंकर प्रेमी, नंदजी नंदा, डा. संतोष गुप्त, विनय कुमार गुप्त, राधिका तिवारी, डा. संतोष शशि, अली अहमद संगम, रमेश मिश्र हंस मुख, हफीज मस्तान, अब्दुल कैश तारविद, रमेशचंद श्रीवास्तव आदि उपस्थित रहे। उपस्थित सभी कवि साहित्यकारों ने भिखारी ठाकुर के चित्र पर श्रद्धासुमन के साथ पुष्प अर्पित किये। अध्यक्षता डा. भोला प्रसाद आग्नेय तथा संचालन डा. फतेहचंद बेचैन ने किया।

 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY