डिजी-धन मेले में भीम-आधार ऐप रहा आकर्षण का केंद्र, कैशलेस तरीकों की दी गयी जानकारी

0
136

बलिया(ब्यूरो)- बाबा साहब की 126वीं जयंती के अवसर पर शुक्रवार को कलेक्ट्रेट सभागार के पास डिजी-धन मेला का भव्य आयोजन हुआ। मेले में डिजिटल व्यवस्थाओं से जुड़ी तथा कैशलेस सम्बंधी जानकारियां दी गयी। भीम-आधार ऐप से जरिये मात्र फिंगर प्रिंट से पैसे से लेन-देन पर विशेष जोर रहा। मेले में सांसद, विधायक समेत सभी सरकारी अधिकारी मौजूद रहे। मेले में ही आयोजित गोष्ठी में अम्बेडकर जी के व्यक्तित्व व कृतित्व पर सभी ने प्रकाश डाला।

डिजी-धन मेला का उद्घाटन सांसद भरत सिंह ने फीता काटकर व दीप प्रज्ज्वलित कर किया। सांसद ने कहा कि सरकार का पूरा जोर है कि डिजिटली व्यवस्था में सब ढ़ल जाएं। इससे जहां हर सरकारी कार्यां में पारदर्शिता आएगी वहीं आम जनता को भी लेनदेन करना आसान हो जाएगा। सांसद ने कहा बाबा साहब ने समाज के दबे कुचले लोगों का ऊपर उठाने का काम किया। आजादी के बाद देश दो टुकड़ों में बंट गया भारत व पाकिस्तान। लेकिन अगर तीसरा विभाजन नही हुआ तो इसका श्रेय बाबा साहब को ही जाता है। सांसद श्री सिंह ने कहा कि मोदी जी ने गरीबों के लिए काफी काम किये। उज्जवला योजना, जनधन योजना जैसी कई योजनाओं के द्वारा गरीबों को लाभ दिया। अब कैशलेस व्यवस्था लागू करने पर उनका जोर है। प्रशासन इसका खूब प्रचार प्रसार करें और गांव-गांव तक लोगों को प्रेरित करे। मेले के सफल आयोजन पर सांसद ने जिला प्रशासन को बधाई दी।

इस अवसर पर विधायक सदर आनंदस्वरूप शुक्ला ने कहा, सरकार के हर कार्यां में जनता का सहयोग मिला। लोगों ने अपील किया कि कैशलेस माध्यम का प्रयोग कर अर्थव्यवस्था को मजबूत बनाने में सहयोग करें। विधायक बैरिया सुरेन्द्र सिंह ने कहा कि कैशलेस या डिजिटल व्यवस्था जितनी जरूरी है, उससे भी जरूरी ये है कि इसे संचालित कराने वाले कार्य में पवित्रता, पारदर्शिता, गतिशीलता बनायें रखें। यही देश को आगे बढ़ाने का शक्तिशाली माध्यम है। यह भी कहा कि सत्ता व समाज का प्रतिनिधि पवित्र हो जाए तो देश को चमकता चांद बनते देर नही लगेगी। सिकंदरपुर के विधायक संजय यादव ने कहा कि गरीब तबके के लोगों तक न्याय पहुंचाने में बाबा साहब की ही महत्वपूर्ण भूमिका है। श्री यादव ने भी डिजिटल दुनिया में आसानी से लेनदेन के लिए भीम-आधार ऐप के प्रयोग को प्रेरित किया।

जिलाधिकारी गोविंद राजू एनएस ने कहा कि भीम-आधार ऐप ट्रांजेक्शन का सबसे आसान व सुरक्षित तरीका है। इससे निश्चित रूप से छात्रवृत्ति, पेंशन जैसे कार्यां में पारदर्शिता आएगी। उन्होंने बाबा साहब को याद करते हुए कहा कि अम्बेडकर जी ने शिक्षित, संगठित व संघर्ष के प्रति लोगो को प्रेरित किया। लेकिन शिक्षा पर उनका विशेष जोर रहा। बाबा साहब से प्रेरणा लेते हुए सबको डिजिटल दुनिया में आगे बढ़ने का आह्वान किया। गोष्ठी में श्रीराम प्रसाद ने बाबा साहब व डिजिटल पेमेंट पर आधारित दो गीत प्रस्तुत किये। इस अवसर पर एसपी आरपी सिंह, एडीएम मनोज सिंघल, सीआरओ बी.राम, सिटी मजिस्ट्रेट रामगोपाल सिंह समेत सभी अधिकारी मौजूद रहे।

डिजी-धन मेले में सरकारी विभाग, बैंक सहित लिमिटेड कम्पनियों ने स्टॉल लगाकर लोगों को कैशलेस व्यवस्था से जुड़ी विभागीय जानकारी दी। इसका निरीक्षण सांसद भरत सिंह, विधायक गण व जिलाधिकारी ने किया। बैंक वालों ने भीम-आधार ऐप के फायदों के बारे में बताया। सांसद व अधिकारियों के सामने ही फिंगर प्रिंट के जरिये पैसा निकालकर व जमा कराकर दिखाया। इस आसान व सुरक्षित प्रक्रिया से सभी प्रभावित दिखे। मेले में इस पर लोगों का विशेष ध्यान रहा। कृषि विभाग ने डीबीटी के माध्यम से अनुदान का लाभ लेने के लिए पंजीकरण कराने की जानकारी दी। जिला पूर्ति विभाग ने बताया कि किस तरह अब कैशलेस खाद्यान्न लोगों को मिलेगा। नगरपालिका ने भी ई-पेमेंट के जरिये टैक्स वसूली व स्वच्छ भारत मिशन के तहत व्यक्तिगत शौचालय के लिए धन देने की जानकारी दी। पिछड़ा वर्ग, समाज कल्याण व विकलांग कल्याण विभाग ने ऑनलाईन पेंशन या छात्रवृत्ति पाने के बारे में बताया। प्रधानमंत्री आवास, राष्ट्रीय आजीविका मिशन आदि के बारे में लोगों ने जानकारी हासिल की।

भीम-आधार ऐप के फायदे-

जिलाधिकारी के निर्देश पर ई-डिस्ट्रिक्ट मैनेजर अभिजात सिंह ने बताया कि भीम-आधार ऐप के लॉन्च होने के बाद आपको कार्ड, मोबाइल, इंटरनेट कनेक्शन और तमाम पासवर्ड के झंझट से मुक्ति मिल जाएगी। यानि आप सिर्फ अंगूठा लगाकर किसी भी प्रकार का भुगतान कर सकेंगे। वैसे तो भीम ऐप को दिसंबर में ही पीएम मोदी ने लॉन्च किया था लेकिन उसमें आधार पेमेंट की सुविधा नहीं थी। शुक्रवार को भीम-आधार ऐप भी लांच हो गया जिससे हम अंगूठा लगाकर पेमेंट कर सकेंगे। इस प्रकार यह सबसे सुरक्षित और आसान लेनदेन का तरीका है।

पीएम के कार्यक्रम का हुआ सजीव प्रसारण- डिजी-धन मेले के दौरान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी के नागपुर में आयोजित कार्यक्रम का सजीव प्रसारण लोगों ने देखा। इसके लिए सभागार के अंदर बकायदा बड़ा प्रोजेक्टर तथा बाहर दो एलईडी टीवी लगायी गयी थी। मेगा लकी ड्रा के दौरान प्रधानमंत्री जी ने लकी विजेताओं को पुरस्कृत किया। इससे देखने वाले लोगों में निश्चित ही कैशलेस लेनदेन के प्रति जागरूकता आई। इस दौरान जनप्रतिनिधि व अधिकारी गण उपस्थित रहे।

रिपोर्ट- संतोष कुमार शर्मा 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here