भोजपुरी भाषा का विकास जरूरीः योगेन्द्र सिंह

0
152

बलिया (ब्यूरो)- जननायक चन्द्रशेखर विश्वविद्यालय बलिया के कुलपति योगेन्द्र सिंह ने कहा कि विश्व के 18 देशों में भोजपुरी भाषा बोली जाती है। 25 करोड़ की आबादी भोजपुरी को अपनी मातृभाषा मानती है। बावजूद भोजपुरी को आठवीं अनुसूचि में आज तक शामिल नहीं किया गया, जो सोचनीय प्रश्न है। अमरनाथ मिश्र पीजी कालेज दूबेछपरा में ‘भोजपुरी भाषा के विकास’ के तहत आयोजित संगोष्ठी को सम्बोधित करते हुए कुलपति ने कहा कि लोककंठ में रच बस कर भी भोजपुरी भाषा आपनी साहित्यिक एवं सांस्कृतिक परम्परा का प्रवाह न केवल बनाये रखी, बल्कि उसमें साहित्य के विविध रूपों एवं उच्च कोटि के साहित्यिक अभिव्यक्तियों की भी गुणवत्ता आती गयी।

उन्होंने कहा कि भोजपुरी के बगैर साहित्य अधूरा है। आज के परिवेश में खेती और बेटी को बढ़ावा देने की जरूरत है। विशिष्ट अतिथि साहित्यकार जनार्दन राय के कहा कि भोजपुरी भाषा लोक भाषा है। भोजपुरी बलिष्ठ जाति की व्यवहारिक भाषा है। भोजपुरी साहित्य में लोकहित संबंधी और धारणायें भरी पड़ी है। यदि देखा जाये तो स्वास्थ्य, रक्षा, पर्यावरण, चेतना, धर्म, अध्यात्म, राष्ट्रीय चेतना, दहेज प्रथा व अध्यात्मवाद से संदर्भित साहित्य में लोकहित से जुड़ी अवधारणायें अपना विशेष स्‍भिन रखती है।

प्राचार्य डॉ. गणेश पाठक ने कहा कि भोजपुरी भाषा को आज तक आठवीं अनुसूची में शामिल न करना सोचनीय विषय है। भोजपुरी क्षेत्र में ही भोजपुरी भाषा उपेक्षित है। पूर्व प्रधानाचार्य उमाशंकर मिश्र ने कहा कि द्वाबा में एक भी विज्ञान वर्ग के महाविद्यालय नहीं है, जिसपर आमजनमानस को सोचना बहुत जरूरी है। जिला पंचायत सदस्य प्रतिनिधि अयोध्या प्रसाद हिन्द ने बाढ़ क्षेत्र में अवस्थित शैक्षणिक संस्थान की ओर इशारा करते हुए कुलपति से कहा कि ‘ऐ साहब अब एक से लेकर एमए तक के बचवन के पढ़े वाला एह धरोहर के बचा लीं, काहेकि इ धरोहर अब गंगा के मुंहाना पर बा। जवना के बचावल हम सब के साथ रउरो जिम्मेदारी बा।’

डॉ शिवेश राय ने कहा कि भोजपुरी जनमानस की भाषा है। इसमें सभी वर्ग, जाति, धर्म व सम्प्रदाय का भाव जुड़ा है। ई. एसके मिश्र, डॉ. गीता, डॉ. गौरीशंकर द्विवेदी, डॉ. श्यामविहिारी श्रीवास्तव, डॉ. भगवान जी चौबे, डॉ भूपेन्द्र सिंह ने भी विचार व्यक्त किया। संतोष कुमार मिश्र, कृपाशंकर पाण्डेय, परमानन्द पाण्डेय, रूपेश कुमार मिश्र, आमप्रकाश सिंह, शिवजी तिवारी, नागेन्द्र तिवारी, नरेन्द्र मिश्र, सुवाष सिंह, अक्षयलाल ठाकुर, रविन्द्र, जगलाल, सीओ बैरिया टीएन दूबे के अलावा कालेज के छात्र-छात्राएं उपस्थित रही। अध्यक्षता शिक्षाविद् शुभनारायण पाण्डेय व संचालन डॉ. शिवेश राय ने किया। सभा आगंतुकों के प्रति प्राचार्य डॉ गणेश पाठक ने आभार व्यक्त किया। इससे पहले कालेज के छात्रसंघ अध्यक्ष सहित सभी पदाधिकारियों ने कुलपति डॉ. योगेन्द्र सिंह का माल्यार्पण कर स्वागत किया। साथ ही कालेज के छात्राओं में कु. रेखा (एमए प्रथम वर्ष) ने स्वागत गीत एवं सरस्वती वंदना प्रस्तुत किया।


रिपोर्ट-संतोष कुमार शर्मा

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY