अर्थी बाबा को चुनाव चिन्ह् लाश चाहिये

0
384

arthi baba

गोरखपुर (ब्यूरो) ये है अर्थी बाबा जो कभी राजन यादव के नाम से जाने जाते थे राजन ने २००८ मे गोरखपुर युनिवर्सिटी से एम.बी.ए.किया| परिवार को उम्मीद थी कि वह कोई अच्छी सी नौकरी ज्वाईन करेगे लेकिन उन्होने जो रास्ता चुनाव ने उन्हे राजन यादव से अर्थी बाबा बना दिया|

अर्थी बाबा ने २०१७ के महासमर मे एक बार फिर ताल ठोंक दी है| इतना ही नही अब वह चुनाव आयोग से चुनाव चिन्ह् लाश मागने वाले है| अर्थी बाबा ने श्मशान घाट को अपना चुनाव कार्याल़य बना लिया है अब वह यही से चुवान प्रचार करेगे|

पिछले एक हप्ते मे अर्थी बाबा ने १०१ चिताओ का पूजन कर चुके है|अर्थी बाबा ने चौरीचौरा विधान सभा से चुनाव प्रचार तेज कर दिया है|जिससे बड़े-बड़े राजनीतिक पार्टिया सकते मे आ गई है|
रिपोर्ट-जयप्रकाश यादव
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here