वाराणसी पुलिस को मिली बड़ी सफलता 10 गिरफ्तार

0
88

वाराणसी (ब्यूरो) पुलिस और क्राइम ब्रांच की टीम ने बड़ी कामयाबी हासिल की है। पुलिस ने अंतर्राज्यीय गिरोह के 10 सदस्यों को गिरफ्तार किया है। पुलिस के अनुसार इन अपराधियों को मुठभेड़ के बाद पकड़ा गया। मुखबिर से सूचना मिली की रामनगर हाइवे पर कुछ बाइक सवार अपराधी ट्रकों से अवैध वसूली कर रहे हैं, जब पुलिस की गाड़ी मौके पर पहुंची तो अपराधियों ने फायरिंग शुरू कर दी। भागने के दौरान अपराधियों की बाइक आपस में टकरा गई, जिसके बाद पुलिस ने घेराबंदी कर अपराधियों को पकड़ लिया। बाद में इनकी निशानदेही पर पांच अन्य अपराधियों को दबोचा गया। इनके पास से भारी संख्या में हथियार और कारतूस भी बरामद किया गया।

एसएसपी आर. के. भारद्वाज ने बताया कि पकड़े गये अपराधी वाराणसी और आसपास के जिलों में वाहन चोरी, लूट और छिनैती की घटनाओं को अंजाम देते थे। उन्होंने बताया कि मुखबिर से शनिवार रात में रामनगर थानाध्यक्ष राजीव सिंह को खबर मिली कि ढूढराज पुलिया रामनगर हाइवे पर बाइक सवार पांच अपराधी ट्रकों से लूट का प्रयास कर रहे हैं, जिसके बाद पुलिस टीम मौके पर पहुंची तो अपराधियों ने भागने का प्रयास किया और पुलिस टीम पर फायरिंग कर दी। भागने के क्रम में अपराधियों की बाइक आपस में टकरा गई, जिसके बाद अपराधी जमीन पर गिर गये। अपराधियों के जमीन पर गिरते ही पुलिस ने घेराबंदी कर उन्हें धर दबोचा। इन अपराधियों की निशानदेही पर चंदौली के बूढ़ेपुर से पांच अन्य अपराधियों को छह बाइक के साथ गिरफ्तार किया। पकड़े गये अपराधियों में एक बीएचयू का छात्र भी शामिल है। सभी लुटेरे बीएचयू छात्र गुड्डू और घनश्याम चौबे के किराये के घर में रूके थे।

शातिर बदमाश अमरनाथ का भांजा भी करता था आपराधिक वारदात
पुलिस रिकॉर्ड में अमरनाथ गैंग का दर्ज है। अमरनाथ की मौत के बाद उसके गिरोह में कई लोग सक्रिय हैं। अमरनाथ का भांजा सन्नी यादव अब जरायम की दुनिया में अपना नाम दर्ज कराने का प्रयास कर रहा है।

पकड़े गये अपराधियों में विक्की चौबे और घनश्याम चौबे बिहार का रहने वाला है, जबकि वीरेंद्र यादव, रजनीकांत यादव, सुनील यादव, लव यादव, रामराज यादव और अरविंद यादव चंदौली का रहने वाला है। इसके अलावा यशलोक वाराणसी का और मोहित सिंह गाजीपुर का रहने वाला है। अपराधियों के अनुसार सनी और वीरेंद्र यादव चंदौली, सोनभद्र और बिहार के सीमावर्ती इलाकों में घटना के लिए सूचना उपलब्ध कराते थे, जबकि मोहित सिंह गाजीपुर की घटनाओं के लिए सूचना देते थे। चंदौली के रहने वाले सनी यादव के घर पर इकट्ठा होकर वारदात के लिए प्लानिंग होती थी और घटना के बाद लूट के माल का बंटवारा भी यहीं होता था। अपराधियों के पास से 8 बाइक, एक पिस्टल, छह तमंचा, तीन चाकू, 11 मोबाइल फोन और तीन हजार रूपया बरामद हु।

रिपोर्ट – सवेॅश कुमार यादव

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here