योगी आदित्यनाथ सरकार में घटीं बड़ी वारदातें

0
80

लखनऊ(ब्यूरो)- सत्ता संभालते ही सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि अपराधी यूपी छोड़ दें या अपराध छोड़ दें लेकिन न तो अपराधियों ने यूपी छोड़ी और न ही उनलोगों ने अपराध छोड़ी।

सोमावार (17 मई) को 8 नकाबपोश अपराधियों ने मथुरा में एक ज्वैलरी शॉप में पिस्टल की नोक पर न केवल 4 करोड़ की ज्वैलरी लूटपाट को अंजाम दिया बल्कि विरोध करने पर दो लोगों की हत्या कर दी और दो लोगों को गोली मारकर घायल भी कर दिया।

विधानसभा में जब विपक्षी नेताओं ने इस पर सरकार को घेरा तो सीएम ने डीजीपी को फटकार लगाते हुए तुरंत मामले की जांच करने का निर्देश दिया। दरअसल, यूपी विधान सभा चुनाव में कानून-व्यवस्था एक अहम मुद्दा था।

लोगों ने सपा सरकार में बिगड़ती कानून व्यवस्था से अंसतुष्ट होकर भाजपा सरकार को चुना था लेकिन पिछले कुछ हफ्ते में यूपी में अपराध की घटनाओं पर रोक लगने की बजाय उसमें इजाफा ही हुआ है|

17 मई, 2017: लखनऊ में कर्नाटक कैडर के आईएएस अफसर का मर्डर 15 मई, 2017: मथुरा के ज्वेलरी शॉप में आठ नकाबपोश बदमाशों द्वारा 4 करोड़ की लूट एंड मर्डर 15 मई, 2017: मुजफ्फरनगर में किसान की हत्या से हड़कंप 13 मई, 2017: कौशांबी में नवविवाहिता की रेप के बाद हत्या 12 मई,

2017: अलीगढ़ में गोकशी के आरोप में 6 लोगों की पीट-पीटकर हत्या 9 मई, 2017: लखनऊ में रिटायर्ड सूबेदार की दो बेटियों की हत्या 5 मई, 2017: ग्रेटर नोएडा में गोकशी के आरोप में 2 लोगों की पिटाई 24 अप्रैल, 2017: इलाहाबाद में माता-पिता और दो बेटियों की हत्या 5 अप्रैल, 2017: मुजफ्फरनगर में बीजेपी नेता की गोली मारकर हत्या

रिपोर्ट-मिंटू शर्मा

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY